सप्रेक

सातवीं क्लास की छात्रा के खत से बदला राजघाट का पूरा स्टाफ 

तर्कसंगत

July 19, 2017

SHARES

थोड़ी सी जागरुकता और सतर्कता समाज में एक बड़ बदलाव ला सकती है. सातवीं क्लास की स्टूडेंट हश्मिता की शिकायत पर नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली में बापू की समाधि राजघाट पर तैनात स्टॉफ को बदल दिया. यही नहीं पीएम ने बाकायदा लेटर लिखकर हश्मिता की तारीफ की और उसे इस कार्रवाई की जानकारी भी दी.

पंजाब के पटियाला की रहने वाली13 साल की हश्मिता ने बताया कि कुछ समय पहले वह परिवार के साथ दिल्ली घूमने गई थी। इस दौरान उसने महात्मा गांधी की समाधि वाली जगह पर नमन किया. वहां जूते रखने के दो काउंटर हैं. एक पेड काउंटर है, जहां सिर्फ 1 रुपए चार्ज लिया जाता है वहीं दूसरा काउंटर फ्री है. हश्मिता ने देखा कि जूते वाले काउंटर पर तैनात मुलाजिम विदेशी सैलानियों से 100-100 रुपए वसूल रहे थे. उसे यह बात अच्छी नहीं लगी. 

वह वापसी में रास्तेभर सोचती रही कि विदेशी सैलानियों से ऐसी हरकतों से हमारे देश की छवी खराब होती है. घर लौटने पर उसने पीएम को शिकायत पत्र लिख दिया. हश्मिता के पास पीएम का एड्रेस नहीं था. इसलिए उसने एनवलप पर सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, नई दिल्ली लिखा। इतने पर ही लेटर पीएमओ पहुंच गया.

हश्मिता ने बताया कि उसे उम्मीद ही नहीं थी कि उसके लेटर पर फौरन एक्शन लिया जाएगा, लेकिन पीएमओ ने मामले की जांच का ऑर्डर दिया, जिसमें शिकायत सही पाई गई. इसके बाद राजघाट का पूरा स्टाफ बदल दिया गया. ऐसा दोबारा न हो इसके लिए राजघाट पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं. पीएम का लेटर पाकर हैरान हुए हश्मिता के पिता अमरदीप सिंह ने इस कार्रवाई के लिए मोदी का अाभार जताया है. उन्होंने कहा कि वाकई मोदी भ्रष्टाचार के खिलाफ फौरन कार्रवाई करते हैं.

तर्कसंगत इश्मिता की जागरुकता को सलाम करता है. आप भी जागरुक नागरिक बन समाज में बदलाव ला सकते हैं.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...