सचेत

#SuicideGame: कहीं ब्लू व्हेल की नजर आपके बच्चे पर तो नहीं ?

तर्कसंगत

August 1, 2017

SHARES

अगर आपका बच्चा गेमिंग का शौकीन है और मोबाइल, डेस्कटॉप या फिर लैपटॉप पर घंटो गेम खेलता है तो आपको सावधान होने की जरुरत है.

मुंबई में एक 14 साल का लड़का इंटरनेट पर खेले जाने वाले गेम ब्लू व्हेल का शिकार हुआ और टास्क पूरा करने के चक्कर में 7वीं मंजिल से छलांग लगा दी.

पुलिस के मुताबिक ये बच्चा खूनी खेल ब्लू व्हेल चैलेंज खेला करता था. शनिवार की शाम उसने अपने इस खेल के तकरीबन सभी टास्क पूरे कर लिए और अब आखिरी टास्क पूरे करने की तैयारी में था. उसका आखिरी टास्क कुछ और नहीं बल्कि आत्महत्या था. इस बात की जानकारी उसने अपने दोस्तों को भी दी और कहा कि वह यह टास्क पूरा कर खेल खत्म करने जा रहा है जिसके कारण वह सोमवार को स्कूल नहीं आ पायेगा.

इंडिया टुडे के मुताबिक मनप्रीत की आखिरी फोटो 7वीं मंजिल पर बैठे हुए की है, जिसमें वो टास्क को पूरा करने के चक्कर में छलांग लगाता है. मनप्रीत ने फोटो पर कैप्शन लिखा कि जल्द ही आपके लिए मेरी बस एक फोटो ही रह जाएगी.

(Pic Credit: India today)

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यह भी पता चला है कि बिल्डिंग की छत के किनारे इस बच्चे को देखकर किसी व्यक्ति ने इस बच्चे को किनारे से दूर हटने के लिए भी कहा था लेकिन उस व्यक्ति के जाते ही पीड़ित छत से कूद गया. इस मामले में पुलिस ने एडीआर दाखिल कर तफ्तीश शुरू कर दी है और साथ ही बच्चे के मोबाइल और लैपटॉप को ज़ब्त कर मौत की जांच में जुट गई है.

आपको बता दें कि इससे पहले भी पोकेमान गेम के चक्कर में दुनिया भर में कई जाने गई थी. मुंबई पुलिस का कहना है कि इस घटना के बाद कई अभिभावक चिंता में हैं.

खूनी ब्लू व्हेल खेल की शुरुआत रूस से हुई है. ये गेम क्लोज्ड ग्रुप में खेला जाता है. फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, व्हाट्सएप जैसे साइट्स पर इंविटेशन के जरिए इस गेम में आप शामिल हो सकते हो.

इस गेम के कुल 50 पड़ाव होते है जिसे आपको 50 दिनों में पूरा करना होता है. इस गेम में हाथ की नसों को काटने जैसे टास्क भी दिए जाते हैं और लास्ट टास्क में यूजर्स को सुसाइड से ही चैलेंज पूरा होने की बात कही जाती है.

आप इस गेम से बाहर निकल भी सकते है लेकिन अगर आप गेम से बाहर निकलने की कोशिश करेंगे तो इस गेम को चलाने वाले आपके परिवार को नुकसान पहुंचाने की धमकी देते है.

मुंबई में एक नाबालिग बच्चे की खुदकुशी से भारत मे भी इसके पैर पसारने की आशंका बढ़ गई है. खबर है कि इस खूनी खेल की वजह से दुनिया मे करीब 250 बच्चों की जान जा चुकी है जिसमें 130 बच्चे सिर्फ रूस के हैं. अगर जांच में ये सही पाया गया तो भारत में इस खूनी खेल की वजह से होनी वाली मौत का पहला मामला होगा.

ऐसे में जरूरत है इंटरनेट, मोबाइल पर दिन भर लगे रहने वाले अपने बच्चों की आदतों और व्यवहार पर नजर रखने की.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...