ख़बरें

दिल्ली में नहीं थम रहा सफाई कर्मियों की मौत का सिलसिला

तर्कसंगत

August 21, 2017

SHARES

दिल्ली के LNJP अस्पताल में सीवर टैंक की सफाई करते हुए एक सफाई कर्मचारी की मौत हो गई और तीन की हालत गंभीर है.

दिल्ली में पिछले एक महीने में टैंक सफाई के दौरान सफाईकर्मियों की मौत का ये चौथा मामला है.

रविवार को LNJP अस्पताल में सीवर टैंक की सफाई के दौरान फिर एक कर्मचारी की मौत हो गई, जबकि तीन बेहोश हो गये जिनका इलाज चल रहा है.

खबरों के मुताबिक LNJP अस्पताल में सीवर की सफाई के दौरान जहरीली गैस की चपेट में आने से ऋषि पाल की मौत हो गई और बिशन, किरन पाल और सुमित बेहोश हो गए.

बड़ी बात ये कि एक महीने के अंदर इस तरह के हादसों में 10 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं फिर भी हादसों पर सरकार और प्रशासन की नींद नहीं खुली और लापरवाही का सिलसिला जारी है.

इससे पहले सीवर की सफाई के दौरान हादसे

12 अगस्त को पूर्वी दिल्ली के शहादरा में एक मॉल में सीवर की सफाई के दौरान दो भाइयों की दम घुटने से मौत हो गई थी

6 अगस्त को लाजपत नगर में सीवर की सफाई करते हुए जहरीली गैस की चपेट में आने से तीन लोगों की मौत हो गई थी

15 जुलाई को चार शख्स दक्षिणी दिल्ली के घिटोरनी में एक वाटर टैंक में घुसे थे, जहां जहरीली गैस की चपेट में आने से उनकी मौत हो गई.

सफाई कर्मचारियों की स्थिति में ज्यादा परिवर्तन नहीं 

आपको बता दे नियमों के बावजूद भारत में सफाई कर्मचारियों की स्थिति में ज्यादा परिवर्तन नहीं आया है. यहां बिना किसी सुरक्षा के ही उन्हें सीवर में उतरना पड़ता है.

हर साल हज़ारों सफाई कर्मचारियों की गंदे नालों से निकलने वाली ज़हरीली गैसों की वजह से मौत हो जाती है.

नियम तो यह है कि सीवेज की सफाई करते समय कर्मचारी के पास सूट, मास्क और गैस सिलेंडर होना चाहिए. इनका सूट स्पेसिफिक होता है जो गंदे पानी से कर्मचारियों की सुरक्षा करता है लेकिन उन्हें ये चीज़ें मुहैया नहीं कराई जातीं.

PC- Outlook India

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...