ख़बरें

यूपीः तीन दिन से ग़रीब मां की लाश के पास सिसक रहीं हैं बेबस बेटियां

Poonam

August 28, 2017

SHARES

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में एक मां का शव तीन दिन से घर में पड़ा है और उसकी बेटियां पास बैठकर सिसक रही हैं.

दरअसल मां की मौत के बाद बच्चियों के पास इतने पैसे भी नहीं है कि वो अंतिम संस्कार करा सकें.

स्थानीय पत्रकार अनुप कुमार की फ़ेसबुक पर लिखी पोस्ट के मुताबिक गीता देवी नाम की महिला का देहांत तीन दिन पहले हो गया था लेकिन उसका अंतिम संस्कार अभी तक नहीं किया गया है.

रौजा क्षेत्र के जुमका गांव की गीता देवी अपनी चार बेटियों के साथ रहती थीं.  गीता के पति सुनी मानसिक रूप से बीमार हैं और कोई काम नहीं कर पाते हैं.

गीता स्वयं मजदूरी करके अपने पूरे परिवार का पेट पाल रहीं थीं लेकिन चार दिन पहले उन्हें एक सांप ने काट लिया.

इलाज न मिलने के कारण गीता की मौत हो गई और अब पैसे न होने के कारण उनका शव अंतिम संस्कार का इंतेज़ार कर रहा है.

गीता की चारों नाबालिग बेटियां अब बेसहारा हो गईं हैं. गीता जहां काम करती थीं वहां भी बच्चियों ने मदद की गुहार लगाई लेकिन कोई असर नहीं हुआ.

पत्रकार अनुप कुमार के मुताबिक घटना का सबसे दुखद पहलू ये है कि अभी तक किसी भी अधिकारी ने इस ग़रीब बेबस परिवार की सुध नहीं ली है.

हाल ही में उत्तर प्रदेश के ही गोरखपुर में एक अस्पताल में ऑक्सीजन के कमी से बच्चों की मौत के बाद सरकार की आलोचना हुई थी.

लेकिन ये पहला मामला नहीं है जब प्रदेश में सरकार की उदासीनता सामने आई है.

इससे पहले बिजनौर ज़िले में एक हल में जुते किसान की तस्वीर सामने आई थी जिसके बाद स्थानीय प्रशासन मदद के लिए दौड़ा था.

लेकिन शहीदों के शहर शाहजहांपुर के इन बेबस बेटियों को अभी भी प्रशासनिक मदद का इंतेज़ार है.

Source: Anoop Kumar, Local Journalist

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...