ख़बरें

सिरसा: संत रामपाल दो मामलों में बरी

Poonam

August 29, 2017

SHARES

सिरसा की एक अदालत ने संत रामपाल को धारा 426 और 427 के तहत दर्ज दो आपराधिक मामलों में निर्दोष करार दिया है.

स्वघोषित संत रामपाल को फैसला सुनाया जाने के मद्देनजर सिरसा में एक बार फिर धारा 144 लगा दी गई.

एक आपराधिक मामले में वांछित रामपाल के 40 बार अदालत में पेश न होने के बाद 2014 में पुलिस ने उन्हें उनके आश्रम से जबरदस्ती गिरफ्तार किया था.

11 साल पहले संत रामपाल के समर्थकों ने रोहतक जिले के गांव में लोगों पर गोली चला दी थी. इस घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और कई घायल हुए थे.

इस घटना के सिलसिले में रामपाल पर आपराधिक साजिश का मुकदमा दर्ज किया गया था.

सिरसा की अदालत ने संत रामपाल को दो मामलों में बरी कर दिया है.

हालांकि वो अभी जेल में ही रहेंगे क्योंकि उन पर कत्ल और राष्ट्रद्रोह के दो और मामले अभी चल रहे हैं

संत रामपाल बरवाला में सतलोक आश्रम के प्रमुख हैं वह कबीरपंथी हैं और 15 वी शताब्दी के कवि की पूजा करते हैं.

संत रामपाल बनने से पहले वह हरियाणा के सिंचाई विभाग में इंजीनियर थे.

नवंबर 2014 में पुलिस ने जब उन्हें आश्रम से गिरफ्तार करने की कोशिश की थी तब उनके समर्थकों ने विरोध किया था.

पुलिस ने जब आश्रम में घुसने की कोशिश की तब बाबा रामपाल के भक्तों ने इसका विरोध किया था. बाबा के भक्त हथियारों और डंडों से लैस थे.

जब पुलिस आश्रम में घुसने में कामयाब रही को वहां चार महिलाओं के शव मिलें थे.

इन पर चोटों के निशान नहीं थें. आश्रम से अस्पताल ले जाएं गए एक बच्चे और एक महिला की भी मौत हो गई थी.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...