ख़बरें

महाराष्ट्रः फंदे पर लटकने से पहले किसान ने लिखा मोदी सरकार और कर्ज़माफ़ी

तर्कसंगत

September 19, 2017

SHARES

महाराष्ट्र के यवतमाल ज़िले में कर्ज़ में दबे एक किसान ने पेड़ से लटक कर आत्महत्या कर ली.

द टाइम्स आफ़ इंडिया की ख़बर के मुताबिक यवतमाल ज़िले के टिटवाली गांव के रहने वाले किसान प्रकाश सिंह ने बीते शनिवार को आत्महत्या की थी.

45 वर्षीय किसान प्रकाश मनगांवकर पर करीब चार  लाख रुपए का कर्ज़ था जिसे वो चुका नहीं पा रहे थे.

अख़बार की रिपोर्ट के मुताबिक जहां किसान ने आत्महत्या की वहां उन्होंने चूने से पत्तों पर लिखा था. एक पत्ते पर किसान ने मोदी सरकार और दूसरे पर कर्ज़ माफ़ी लिखा था.

किसान की आत्महत्या के बाद स्थानीय भाजपा सांसद नाना पटोले और पूर्व कांग्रेसी मंत्री शिवाजीराव मोघे के गांव पहुंचने के बाद राजनीतिक विवाद भी बढ़ गया है.

नाना पटोले ने कहा है कि यदि किसानों की आत्महत्या नहीं रुकती है तो वो अपने सांसद पद से इस्तीफ़ा देने के लिए तैयार हैं.

किसान के पत्तों पर मोदी सरकार लिखने के बाद स्थानीय लोग अंदाज़ा लगा रहे हैं कि वह मोदी सरकार से निराश था.

महाराष्ट्र की भाजपा सरकार ने किसानों के लिए कर्ज़माफ़ी का ऐलान किया था लेकिन अभी तक इसे लागू नहीं किया जा सका है.

किसान कर्जमाफ़ी में देरी की वजह से परेशान था.

अपनी जान देने वाले किसान के घर में चालीस वर्षीय पत्नी के अलावा एक छह साल का बेटा, सौलह साल की बेटी और साठ साल की मां है.

किसान के पास करीब ढाई हैक्टेयर ज़मीन थी जिसमें से आधी को बेचकर उसने एक मिनी ट्रक खरीदा था. ट्रक खरीदने के लिए किसान ने लोन भी लिया था जिसमें 2.68 लाख बकाया था. ये ट्रक एक दुर्घटना में बर्बाद हो गया था.

किसान पर खेती के लिए लिया गया सवा लाख रुपए का कर्ज भी बकाया था.

साल 2014 में अपने चुनाव अभियान के दौरान जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यवतमाल गए थे तो उन्होंने किसानों की आत्महत्याएं रोकने का वादा किया था.

किसान के गांव पहुंचे सांसद नाना पटोले ने कहा है कि यदि किसानों के हितों की लड़ाई के लिए ज़रूरी हुआ तो वो अपने पद से इस्तीफ़ा देने के लिए भी तैयार हैं.

तस्वीरः महाराष्ट्र में गणेश उत्सव के दौरान एक झांकी जिसमें भगवान गणेश किसान को आत्महत्या से रोक रहे हैं.

Source: The Times of India

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...