ख़बरें

संगरूर की आई ए एस बेटी ने नागालैंड की एक औरत को 50 साल बाद घरवालों से मिलाया

तर्कसंगत

October 16, 2017

SHARES

रील लाइफ में फ़िल्म बजरंगी भाईजान से शायद आप सभी वाकिफ हों लेकिन रियल लाइफ में संगरूर की एक महिला आई ए एस ने बजरंगी भाईजान की भूमिका निभाई है. 1971 से संगरूर में रह रही एक महिला को 50 साल के बाद उसके परिवार से मिलाया है.

डॉ प्रीति गोयल जो संगरूर के लहरागागा की रहने वाली है और अब बंगाल के हुगली जिले में आई ए एस के पद पर तैनात हैं. उन्हें हमने बजरंगी भाईजान की संज्ञा इसलिए दी है क्योंकि क्योकि प्रीति ने ऐसा कर दिखाया है जो हर कोई नहीं कर सकता. प्रीति ने कई सालों की मेहनत के बाद नागालैंड की अनीता नाम की औरत को 50 साल के बाद उसके परिवार से मिलावाया है. इस कहानी को समझने के लिए 50 साल पीछे जाना होगा.

संगरूर के लहरागागा के वकील सिंह नागालैंड में फौज में नौकरी करते थे. नौकरी के चलते वकील सिंह की मुलाकात अनीता से हुई और दोनों में प्यार हो गया. वकील और अनीता ने 1967 में लव मैरिज कर ली उसके बाद 1971 में दोनों पंजाब के संगरूर आ गए. न तो वकील को अनीता के घर का पता मालूम था और ना ही अनीता को अच्छी तरह से अपने घर की जानकारी थी. अनीता को सिर्फ इतना याद की उसके पिता एक हॉस्पिटल में काम करते थे और उनका घर एक थिएटर के पास था. उन्हें सिर्फ अपने कबीले का नाम पता था.

संगरूर में अनीता अपने परिवार को याद कर रोती रहती लेकिन घर का पता ना होने के चलते परिवार से मिलना दोबारा कभी संभव नहीं हुआ. अनीता की हालत देख प्रीति जो उनके पड़ोस में रहती थी ने उन्होंने ठान लिया की एक दिन वो उनके परिवार से मिलवाकर रहेंगी.

प्रीति की माँ ने बताया कि अनीता को उसके परिवार को मिलाने की बात प्रीति ने 10 साल पहले की थी. उसके बाद प्रीति ने आई. ए. एस. का टेस्ट दिया और 2012 में बंगाल में आई. ए. एस. ऑफिसर बन कर पहुंची. उसके बाद आई. ए. एस. प्रीति गोयल ने अपने दोस्तों की मदद ली जो नागालैंड में ड्यूटी पर तैनात थे जिनको अनीता के परिवार के बारे में पता लगाने को कहा. 2 साल की कड़ी मेहनत के बाद नागालैंड में आखिर अनीता का परिवार मिल ही गया जिसके बाद उन्होंने अनीता की वीडियो कालिंग के दवारा उनके परिवार से बात करवाई.

आई. ए. एस. प्रीति गोयल की माँ ने कहा जब बात हुई  पहले 15 मिनट तक दोनों परिवार आपस में रोते रहे क्योंकि 50 साल बाद जो बात हो रही थी अनीता और उसका परिवार अब बहुत खुश हैं. अनीता अपनी पोती और पोते के साथ नागालैंड अपने परिवार को मिलकर आई हैं जो बहुत ही खुश हैं और आई ए एस प्रीति गोयल का धन्यवाद करती नहीं थकती आखिर संगरूर की इस आई ए एस बेटी ने रियल लाइफ में बजरंगी भाईजान की फ़िल्मी कहानी को सच कर दिखाया है.

आई ए एस प्रीति गोयल की माँ कान्ता गोयल ने कहा की मेरी बेटी ने जो काम किया है मुझे उस पर गर्व है. अनीता अक्सर अपने परिवार को याद कर रोती रहती थी तभी मेरी बेटी ने कहा की आंटी मै आपको आपके परिवार से मिलवाउंगी और मेने भी उसे कहा कि बेटी अगर जिन्दगी में कभी मौका मिले तो इस औरत की सहायता करने की कोशिश जरूर करना, जो उसने कर दिखाया.

अनीता की आँखों से ख़ुशी के आंसू  रोके नहीं रुकते …अनीता कहती है की बह बहुत खुश है जो उसको उसके परिवार के लोग मिले नागालैंड में अनीता का एक बड़ा परिवार है. अनीता की पोती ने कहा की जब में अपनी दादी जी के साथ नागालैंड गई तो वहां पर स्टेशन पर दादी जी के परिवार वालों का स्वागत देख कर इतनी खुश हुई की जो सीन उस समय था वो उसको शब्दों में बयान नहीं कर सकतीं और हम हमारी आई ए एस प्रीति दीदी का शुक्रिया करते हैं जिन्होंने हमारे लिए इतना कुछ किया है.

संगरूर की इस बेटी ने एक बेटी को उसके परिवार को मिला कर जो एक मिसाल कायम की है उसकी जितनी भी तारीफ की जाए कम है. तर्कसंगत इनके हौसले को सलाम करता है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...