ख़बरें

झारखंडः भूख से मरी लड़की की मां से गांव को बदनाम करने के नाम पर मारपीट

तर्कसंगत

October 21, 2017

SHARES

झारखंड के सिमडेगा ज़िले में 28 सितंबर को कथित तौर पर भूख से मरी संतोषी कुमारी की मां के साथ गांव की कुछ महिलाओं ने मारपीट की है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक संतोषी की मां कोयली देवी इस मामले को उठाने वाली सामाजिक कार्यकर्ता तारामणि साहू के घर पहुंची और पूरी घटना के बारे में बताया.

रिपोर्ट के मुताबिक शुक्रवार रात कुछ महिलाएं कोयली देवी के घर आईं थीं और उनसे बहस की थी. इस दौरान उनके साथ झड़प भी हुई.

घटना की रिपोर्टें मीडिया में आने के बाद स्थानीय पुलिस कोयली देवी के घर पहुंची. हालांकि कोयली देवी साहू के घर पर थीं.

पुलिस से सुरक्षा का भरोसा मिलने के बाद कोयली देवी अपने गांव लौट आई हैं.

पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में पचा चला है कि कुछ महिलाएं कोयली देवी के घर पहुंची थी और उन पर गांव को बदनाम करने का आरोप लगाया था.

पुलिस ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया है कि शिकायत मिलने पर इस बारे में मुकदमा दर्ज कर लिया जाएगा.

कोयली देवी ने आरोप लगाया था कि उनकी बेटी की मौत भूख से हो गई थी. हालांकि अधिकारियों का कहना है कि संतोषी की मौत मलेरिया की वजह से हुई थी.

राशन कार्ड के आधार कार्ड से न जुड़े होने की वजह से कोयली देवी के परिवार को आठ महीने से राशन नहीं मिल पाया था.

कोयली देवी ने मीडिया से कहा था कि उनके घर में खाने के लिए कुछ भी नहीं था और उनकी बेटी मौत से पहले भात मांग रही थी लेकिन वो उसे खाने के लिए कुछ नहीं दे पाईं.

संतोषी की मौत की ख़बर मीडिया में आने के बाद राशन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ने को अनिवार्य करने पर सवाल उठे हैं.

प्रशासन ने गांव कोयली देवी के गांव के पीडीएस (पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम) डीलर और ब्लॉक के आपूर्ति अधिकारी को भी निलंबित कर दिया है.

इसी बीच यूआईडीएआई ने स्पष्टीकरण दिया है कि राशन कार्ड को आधार से जोड़ना अनिवार्य नहीं है.

Source: Indian Express

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...