ख़बरें

राजनीतिः केजरीवाल ने कुमार विश्वास को नहीं भेजा राज्यसभा

तर्कसंगत

January 3, 2018

SHARES

कई दिल चली राजनीतिक रस्साक़शी के बाद आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा के लिए अपने तीन उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है.

पार्टी ने अपनी कार्यकारी समिति में शामिल संजय सिंह के अलावा दो बाहरी लोगों को उम्मीदवार बनाया हैं.

आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा के लिए संजय सिंह के अलावा व्यापारी सुशील गुप्ता और चार्टर्ड अकाउंटेंट नारायण दास गुप्ता का नाम तय किया है.आम आदमी पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक कुमार विश्वास को टिकट मांगने के बावजूद पार्टी राज्यसभा नहीं भेज रही हैइसके अलावा पत्रकार से नेता बने आशुतोष का नाम भी राज्यसभा उम्मीदवारों की सूची से बाहर है.

कयास लगाए जा रहे थे कि पार्टी आशुतोष को राज्यसभा भेज सकती है.आम आदमी पार्टी के पास दिल्ली में कुल 70 में से 67 विधानसभा सीटें हैं, ऐसे में पार्टी के तीनों उम्मीदवारों का चुना जाना लगभग तय है.

पार्टी के फ़ैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए कुमार विश्वास ने मीडिया से कहा,  मैं बहुतबहुत शुभकामनाएं देता हूं इन दोनों क्रांतिकारियों को जिनको चुनकर, रामलीला मैदान की लड़ाई का प्रतिफल और निष्कर्ष नवनीत बनाकर सर्वोच्च सदन में भेजा गया है, जहां अटल जी और इंदिरा जी जैसे महनीय लोगों की आवाज़ गूंजी है. मैं अरविंद को और पार्टी के उन लोगों को बधाई देता हूं जिन्होंने इन्हें चुना है.”

कुमार विश्वास की इन शुभकामनाओं में जानकारों को नारज़गी के स्वर भी सुनाई पड़ रहे हैंबहुत मुमकिन है कि पार्टी के इस फ़ैसले के बाद कुमार विश्वास के समर्थक विरोध कर दें.

मूल रूप से कवि कुमार विश्वास पार्टी के साथ लंबे समय से हैं लेकिन पिछले कुछ महीनों से उन्हें पार्टी में ही नज़रअंदाज़ किया जा रहा है.

कुमार के टिकट मांगने पर भी उन्हें उम्मीदवार न बनाने से अरविंद केजरीवाल ने ये स्पष्ट कर दिया है कि अब आम आदमी पार्टी में कुमार विश्वास के लिए जगह बहुत सीमित है.

लेकिन क्या कुमार विश्वास इस सीमित जगह में रह पाएंगे? ये सवाल भी पूछा जाने लगा है.

राज्यसभा में दिल्ली की तीन सीटें है जिसके लिए पंद्रह जनवरी को मतदान होना है. नाम दाख़िल करने की अंतिम तिथि पांच जनवरी है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...