ख़बरें

आधार न होने पर अस्पताल ने निकाला, महिला ने खुले आसमान के नीचे जना बच्चा

तर्कसंगत

February 10, 2018

SHARES

हरियाणा के गुड़गांव में शुक्रवार को एक महिला ने अस्पताल के दरवाज़े पर ही बच्चा को जन्म दे दिया.

दरअसल गुणगांव सिविल अस्पताल ने आधार कार्ड न होने की वजह से महिला को अस्पताल में प्रवेश नहीं दिया था.

महिला के अस्पताल के बाहर बच्चे को जन्म देते वक़्त लोगों की भीड़ जुट गई.

आधार कार्ड न होने की वजह से महिला को अस्पताल से बाहर कर दिए जाने के बाद भीड़ की नज़रों से बचाने के लिए उसके इर्दगिर्द चादरों का घेरा बनाया गया.

बेटी को जन्म देने के कई घंटे बाद ही उसे अस्पताल में दोबारा प्रवेश मिल सका.

फिलहाल मां और बेटी अस्पताल में भर्ती हैं. प्रशासन ने अस्पताल के एक डॉक्टर और नर्स को निलंबित कर दिया है.

परिवार के मुताबिक मुन्नी को सुबह नौ बजे प्रसव पीड़ा शुरू हुई थी जिसके बाद फ़ोन करके एंबुलेंस बुलवाई गई.

आधे घंटे बाद परिवार सिविल अस्पताल पहुंच गया. अस्पताल में भर्ती किए जाने के बाद अधिकारियों ने महिला का आधार कार्ड मांगा.

परिवार का कहना है कि उस समय उनके पास महिला का आधार कार्ड नंबर तो था लेकिन आधार कार्ड नहीं था.

परिवार ने आधार कार्ड उपलब्ध कराए जाने तक महिला को भर्ती करने के लिए कहा ताकि इलाज शुरू किया जा सके.

महिला के पति बबलू गरुग्राम में ही मज़दूरी करते हैं. बबलू का कहना है कि आधार नंबर होने के बावजूद उनकी पत्नी को अस्पताल से निकाल दिया गया.

बबलू का कहना है कि उन्होंने अस्पताल के अधिकारियों को अपना आधार कार्ड दिखाया था लेकिन उन्होंने उनकी एक न सुनी.

बबलू का आरोप है कि अस्पताल प्रशासन ने उनसे आधार कार्ड की मूल कॉपी साथ लाकर दोबारा पत्नी को अस्पताल में भर्ती करवाने के लिए कहा.

इसी बीच बबलू अपनी पत्नी को अस्पताल में ही छोड़कर आधार कार्ड लेने चले गए. लेकिन उन्हें आधार नहीं मिला.

जब वो वापस लौटे तो अस्पताल प्रशासन ने उनकी पत्नी को बाहर निकाल दिया था. उनकी पत्नी अस्पताल के बाहर ही बच्चे को जन्म दे रही थी.

वहीं स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि घटना के बाद जांच शुरू कर दी गई है. इस सिलसिले में अस्पताल के एक डॉक्टर और नर्स को निलंबित भी कर दिया गया है.

बबलू के भाई सुंदर लाल ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया है कि वो मूल रूप से उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं.

सुंदर लाल के मुताबिक मुन्नी ने तीन चार महीने पहले गांव में आधार के लिए आवेदन किया था. उन्हें आधार नंबर तो मिल गया था लेकिन कार्ड नहीं मिल सका था.

कुछ दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के जौनपुर में आधार कार्ड न होने की वजह से एक महिला को अस्पताल से बाहर निकाल दिया गया था. उस महिला ने भी अस्पताल के बाहर ही बच्चे को जन्म दिया था.

स्रोतः इंडियन एक्सप्रेस

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...