ख़बरें

उन्नाव केसः सीबीआई ने विधायक कुलदीप सेंगर को हिरासत में लिया

तर्कसंगत

April 13, 2018

SHARES

सीबीआई ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी के विधायक कुलदीप सेंगर को हिरासत में ले लिया.

विधायक कुलदीप सेंगर अपने ऊपर लगे आरोपों को राजनीति से प्रेरित बताकर खारिज करते रहे हैं.

कुलदीप सेंगर पर एक सत्तरह साल की युवती को अग़वा करके गैंगरेप करने के आरोप हैं.

युवती के पिता की उत्तर प्रदेश पुलिस की हिरासत में हुई संदिग्ध मौत के मामले में भी कुलदीप सेंगर अभियुक्त हैं.

उत्तर प्रदेश सरकार ने गुरुवार को युवती से कथित गैंगरेप और उसके पिता की हिरासत में संदिग्ध मौत के मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी.

गुरुवार को ही कुलदीप सेंगर के ख़िलाफ़ उत्तर प्रदेश पुलिस ने आईपीसी की कई धाराओं के तहत एफ़आईआर दर्ज की थी.

इनमें अपहरण, बलात्कार और धमकाने के आरोप हैं.

यूपी पुलिस के विशेष जांच दल ने सीबीआई को वो वीडियो भी दिया है जिसमें युवती के पिता कह रहे हैं कि उन्हें विधायक के भाई ने बुरी तरह पीटा है.

यूपी पुलिस ने मंगलवार को ही विधायक के भाई अतुल सिंह को गिरफ्तार कर लिया था. युवती के पिता पर हमले के मामले में पुलिस पहले से ही पांच लोगों को गिरफ़्तार कर चुकी है.

इसी बीच गुरुवार को उत्तर प्रदेश हाई कोर्ट ने सेंगर की गिरफ़्तारी में हो रही देरी पर यूपी सरकार से सवाल पूछे थे.

इसी मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई अगले सप्ताह होनी है.

इस मामले में अब तक उन्नाव के माखी थाने के अध्यक्ष और छह पुलिस कर्मियों के अलावा उन्नाव ज़िला अस्पताल के सीएमएस डीके द्विवेदी और आपातकाली मेडिकल ऑफ़िसर डॉ. प्रशांत उपाध्याय को निलंबित किया जा चुका है.

इसी बीच अन्नाव के सफ़ीपुर क्षेत्र के पुलिस क्षेत्राधिकारी कुंवर बहादुर सिंह को भी मामले में लापरवही बरतने के आरोपों में निलंबित कर दिया गया है.

ये मामले बीते रविवार तब सुर्ख़ियों में आया था जब पीड़िता ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लखनऊ स्थित आवास के बाहर स्वयं को आग लगाने की कोशिश की थी.

अगले ही दिन जेल में बंद पीड़िता के पिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...