ख़बरें

मक्का मस्जिद धमाका मामले में असीमानंद समेत सभी अभियुक्त बरी

तर्कसंगत

April 16, 2018

SHARES

हैदराबाद में एनआईए की एक विशेष अदालत ने मक्का मस्जिद धमाकों के पांच अभियुक्तों को सोमवार को सबूतों के अभाव में  बरी कर दिया.

बरी किए गए अभियुक्तों में स्वामी असीमानंद भी शामिल हैं.

अदालत ने कहा है कि जांच एजेंसी किसी भी अभियुक्त का ग़ुनाह साबित करने में नाकाम रही है.

इस मामले में अभिनव भारत संगठन से जुड़े नाबाकुमार सिरकार उर्फ़ स्वामी असीमानंद, देवेंद्र गुप्ता, लोकेश शर्मा उर्फ़ अजय तिवारी, लक्षमण दास महाराज, मोहनलाल रातेश्वर और राजेंद्र चौधरी को अभियुक्त बनाया गया था.

दो अभियुक्त रामचंद्र कालसंगरा और संदीप डांगे अभी भी फ़रार चल रहे हैं.

जांच के दौरान ही एक और अभियुक्त सुनील जोशी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. सुनील जोशी आरएसएस से जुड़े थे.

मई 2007 में हैदराबाद की ऐतिहासिक मक्का मस्जिद में हुए पाइप बम धमाके में आठ लोग मारे गए थे और 58 घायल हुए थे.

इस हमले के बाद प्रदर्शनकर रहे लोगों पर पुलिस ने फ़ायरिंग कर दी थी जिसमें पांच और लोग मारे गए थे.

इन धमाकों की जांच शुरू में स्थानीय पुलिस ने की थी. बाद में सीबीआई को जांच सौंप दी गई थी.  एनआईए ने इस हमले की जांच साल 2011  में अपने हाथ में ली थी.

सुनवाई के दौरान कुल 226 ग़वाह अदालत में पेश हुए. लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित समेत 64 ग़वाह अपनी ग़वाही से पलट गए.

अदालत के फ़ैसले के बाद हैदराबाद के पुराना शहर इलाक़े में ग़ुस्सा भी दिखा है.

लोग पूछ रहे हैं कि उनके रिश्तेदारों और भाइयों को आख़िरकार किसने मारा था?

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...