ख़बरें

पश्चिम बंगालः तीन दिन में दो बीजेपी कार्यकर्ता लटके हुए मिले

तर्कसंगत

June 2, 2018

SHARES

पश्चिम बंगाल के पुरुलिया ज़िले में के बलरामपुर डाभा गांव में एक बीजेपी कार्यकर्ता का शव बिजली के एक खंभे से लटका मिला है.

तीन दिन पहले ही पुरुलिया ज़िले के बलरामपुर में ही एक बीजेपी कार्यकर्ता का शव पेड़ से लटका मिला था.

दो बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या के बाद पश्चिम बंगाल सरकार ने शनिवार को पुरुलिया ज़िले के पुलिस अधीक्षक का ट्रांसफ़र कर दिया है.

सरकार के आदेश के बाद आकाश मघारिया ने जॉय बिस्वास का स्थान लिया.

पेड़ से लटके मिले बीजेपी कार्यकर्ता की पहचान दुलाल कुमार के रूप में हुई है.

दो बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा है कि वो राज्य में क़ानून व्यवस्था क़ायम नहीं रख पा रही हैं.

एक ट्वीट में अमित शाह ने कहा, “पश्चिम बंगाल के बलरामपुर में एक और बीजेपी कार्यकर्ता दुलाल कुमार की हत्या से परेशान हूं. पश्चिम बंगाल में जारी ये हिंसा और बर्बरता शर्मनाक और अमानवीय है. ममता बनर्जी की सरकार राज्य में क़ानून व्यवस्था क़ायम करने में पूरी तरह नाकाम रही है.”

तीन दिन पहले त्रिलोचन मेहतो नाम के भाजपा कार्यकर्ता का शव एक पेड़ से लटका मिला था और उनकी टी-शर्ट पर चेतावनी लिखी गई थी.

बीजेपी ने मेहतो की हत्या का आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगाया है. तृणमूल का कहना है कि इन हत्याकांडों की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए.

पश्चिम बंगाल में हाल ही में पंचायत चुनाव हुए हैं. पुरुलिया ज़िले में बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस में कांटे की टक्कर रही है. बीजेपी ने 839 ग्राम पंचायतों में जीत हासिल की है जबकि तृणमूल के हिस्से में यहां 645 ग्राम पंचायतें आई हैं.

वहीं ज़िले की 38 ज़िला परिषद सीटों में से तृणमूल ने 26 जीती हैं जबकि बीजेपी ने 9 सीटों पर जीत दर्ज की है.

एक ही इलाक़े में दो बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनकी सरकार पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं.

ममता बनर्जी सरकार ने घटनाओं की सीआईडी से जांच करवाने की संस्तुति की है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...