ख़बरें

राजस्थानः खुले में शोच कर रही महिलाओं की तस्वीर खींचने से रोका, हत्या

तर्कसंगत

June 17, 2017

SHARES

Source: Indian Express

राजस्थान के प्रतापगढ़ ज़िले में एक 44 वर्षीय व्यक्ति की कथित तौर पर पीट-पीट कर हत्या कर दी गई.

मृतक जफ़र के परिजनों का आरोप है कि नगर परिषद के कर्मचारियों ने उनकी पीट-पीट कर हत्या की है.

परिजनों का आरोप है कि जफ़र ने स्वच्छ भारत अभियान की टीम को खुले में शोच कर रही महिलाओं की तस्वीर लेने से रोका था.

प्रतापगढ़ के एसएचओ ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया है कि जफ़र की हत्या के मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत क़त्ल का मामला दर्ज कर लिया गया है.

प्रतापगढञ में प्रदर्शन
अभियुक्तों की गिरफ़्तारी के लिए स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन किया है. तस्वीर नदीम ख़ान के फ़ेसबुक वॉल से

एसएचओ मंगी लाल ने एक्सप्रेस को बताया, “नगर परिषद के आयुक्त अशोक जैन और परिषद के कर्मचारियों कमल हरिजन, रितेश हरिजन और मनिष हरिजन के ख़िलाफ़ हत्या का मामला दर्ज किया गया है.”

एफ़आईआर मृतक के भाई नूर मोहम्मद की शिकायत पर दर्ज की गई है. शिकायत में उन्होंने कहा है, “कछ महिलाएं सुबह करीब छह-साढ़े छह बजे हमारी कच्ची बस्ती महताब शाह कालोनी के पास खुले में शोच कर रहीं थीं. तब नगर परिषद आयुक्त का कार आकर रुकी जिसमें कमल, रितेश मनीष और अन्य थे. इन लोगों ने महिलाओं की तस्वीरें लेनी शुरू कर दीं.”

जफ़र की हत्या के बाद स्थानीय लोगों में रोष है. तस्वीर नदीम ख़ान के फ़ेसबुक वॉल से.

“मेरे भाई ने उनसे तस्वीरें न लेने के लिए कहा जिसके बाद उन्होंने उसे डंडों से पीटना शुरू कर दिया. उसकी मौके पर ही मौत हो गई. मौके पर मौजूद सभी लोग हमलावरों को पहचान सकते हैं.”

हालांकि नगर आयुक्त अशोक जैन ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में आरोपों का खंडन किया है. उनका कहना है कि कोई भी विवादित तस्वीर नहीं ली गई थी न ही हमने उसे पीटा था.

इसी बीच सीपीआई (एमएल) ने कथित तौर पर जफ़र का लिखा एक पत्र जारी किया है जिसमें उन्होंने नगर परिषद के कर्मचारियों के हाथों खुले में शोच करने वाली महिलाओं के शोषण के आरोप लगाए थे.

इस कथित पत्र में उन्होंने लिखा था कि कर्मचारी शोच करने जा रही महिलाओं की तस्वीरें खींचते हैं, उनके पीछे भागते हैं और पानी के मग छीन लेते हैं.

पुलिस ने अभी इस मामले में किसी को गिरफ़्तार नहीं किया है. पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या के कारण स्पष्ट होने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...