सप्रेक

हैदराबाद में 12 साल के बच्चे ने शहर की सड़क के गड्ढे भरने का बीड़ा उठाया है जिससे कोई दुर्घटना न हो.

तर्कसंगत

July 4, 2017

SHARES

हैदराबाद के हबीसगुडा में रहने वाले बारह साल के रवि तेजा ने मोटरसाइकिल पर सवार एक परिवार के तीन लोगों को हादसे का शिकार होते देखा जिसका असर उनपर इतना गहरा पड़ा की रवि ने उस इलाके के सारे गड्ढे को भरने की ठान ली.

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक गड्ढे से बचने की कोशिश में एक परिवार मोटरसाइकिल से गिर पड़ा जिसमें सभी लोगों को सिर में गहरी चोट लगी वहीं 6 महीने के बच्चे की बोरवेल में गिरकर मौत हो गई.

इस हादसे को देखकर ही रवि ने खुद सड़कों के गड्ढों को भरने का फैसला किया.रवि आसपास के इलाके से ईंट के टुकड़े, बजरी और पत्थर एकत्रित करते हैं और गड्ढे भरने लगते हैं.

इससे पहले मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने एक मई को एक महीने के भीतर राज्य के सभी गड्ढों को भरने का आदेश दिया था, लेकिन समय सीमा बीतने पर इसमें कोई सुधार नहीं हुआ। वहीं राज्य भर में हो रही बारिश के चलते स्थिति और भी बदतर हो गई है। 


निर्माण मजदूर डी सूर्यनारायण और गृहिणी नागमणि के बेटे रवि के मुताबिक हादसा देखने के बाद उन्हें लगा कि मुझे कुछ करना चाहिए, जिससे ऐसे हादसे फिर ना हों। वह यह काम पिछले एक हफ्ते से कर रहे हैं। हर दिन कई घंटे इसी काम में लगे रहते हैं। रवि के मुताबिक यह काम वह अपने लिए कर रहे हैं और भविष्य में भी करते रहेंगे। जल्द ही वह अपने दोस्तों से भी इस काम में मदद करने के लिए कहेंगे। कक्षा छह के इस बच्चे के काम को देखकर स्थानीय लोग उसकी प्रशंसा कर रहे हैं।  

तर्कसंगत इस बच्चे की कोशिश को सलाम करता है. इस छोटे से लड़के की बड़ी कोशिश ये सीख देती है कि समाजहित के लिए हमें मुकदर्शक बनने की जगह आगे बढ़कर बदलाव लाने की जरूरत है.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...