मेरी कहानी

मेरी कहानी : मेरी मां उसे अपनी बहु बनाने के लिए सबके खिलाफ चली गईं, हमारी शादी में कोई भी नहीं आयेगा ये हम जानते थे.

Poonam

July 5, 2017

SHARES

वो मुझसे चार साल बड़ी थी. वो काली जरुर थी लेकिन किसी परी से भी ज्यादा सुंदर थी. लेकिन मैने कभी भी उसके चेहरे पर ध्यान नहीं दिया क्योंकि वो दिल की बहुत अच्छी थी. मैने आजतक उस जैसा ख्याल रखने वाला इंसान नहीं देखा. अगर गांव की कोई भी महिला बीमार पड़ती तो वहां वो जरूर मौजूद होती. हमारे गांव में ऐसा कम ही होता था कि महिलाएं हस्पताल जाएं. दाई होने के नाते वो हर गर्भवती महिला के पास मौजूद होती थी. लेकिन हमारे पिछड़े गांव में ज्यादातर लोग उसके बारे में गलत बोलते थे. उससे शादी करने को कोई भी राज़ी नहीं था. मैं इस लड़की के प्यार में बचपन से ही पागल था. एक दिन हिम्मत कर मैने अपनी मां से ये बात कह दी. मुझे आश्चर्य है कि मेरी मां हसना को अपनी बहू बनाने के लिए घऱ में सभी से लड़ गई. हम जानते थे कि मेरी शादी में कोई भी नहीं आयेगा लेकिन जिस दिन हमारी शादी हुई मुझे हैरानी हुई की अलगअलग गांवों से 100 महिलाओं ने हमारी शादी में शिरकत की.मैं नहीं जानता था कि हसना ने उन सभी महिलाओं को शिक्षित किया था. मेरी पत्नी करीब तीन साल पहले ही मुझे छोड़ के चली गयी. हमें कोई संतान नहीं है. मेरे लिए उसका प्यार ही बहुत था. मेरे पास जो एकमात्र ज़मीन का टुकड़ा था उसे मैने लड़कीयों की स्कूल बनाने के लिए दान में दे दिया. मुझे यकीन है वो कहीं भी होगी ये देखकर बहुत खुश होगी.

Story by- GMB Akash

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...