ख़बरें

UPSC टॉपर : बिन कोचिंग के टॉप रैंक लाए, उधार लेकर दिल्ली आए

तर्कसंगत

July 7, 2017

SHARES

जहां चाह वहां राह, इस कहावत को सार्थक कर दिखाया है 30 साल के गोपाल कृष्ण रोनांकी ने जो बेहद ही गरीब परिवार से हैं. गोपाल ने बीना किसी कोचिंग के न UPSC परिक्षा में सफलता हासिल की बल्कि पूरे भारत में तीसरा रैंक हासिल किया वहीं आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में वह टॉप रैंक पर हैं.

अब जब दिल्ली में कार्मिक लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय ने टॉप 20 UPSC टॉपर्स के सम्मान समारोह का आयोजन किया तो इसमें जाने तक के लिए गोपाल के पास पैसे नहीं थे. उन्होंने पड़ोसी से 50 हजार रुपए उधार लेकर प्लेन का टिकट लिया और सम्मान समारोह में शामिल हुए.

आंध्र प्रदेश में श्रीकाकुलम जिले के पारासांबा गांव से एक गरीब किसान रोनांकी अप्पा राव के पुत्र हैं गोपाल कृष्ण रोनांकी. गोपाल के माता-पिता उनको शुरुआती शिक्षा अंग्रेजी माध्यम स्कूल में दिलाना चाहते थे, लेकिन पैसे की किल्लत के चलते गोपाल कृष्ण रोनांकी ने स्थानीय सरकारी स्कूल से पढ़ाई की. परिवार की माली हालत इतनी खराब थी की गोपाल को दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से ग्रैजुएशन करना पड़ा. हालांकी परिवार की गरीबी दूर करने के लिए उन्होंने एक स्कूल में पढ़ाना शुरू किया लेकिन उन्होंने नौकरी छोड़ दी क्योंकि UPSC की तैयारी के लिए पर्याप्त समय नहीं मिल पा रहा था.

UPSC  की बेहतर तैयारी के लिए वो हैदराबाद में आए और कोचिंग सेंटर जॉइन करना चाहा लेकिन पैसों की कमी की वजह से किसी भी कोचिंग सेंटर ने उन्हें दाखिला नहीं दिया। गोपाल इससे निराश नहीं हुए बल्कि इसे अपनी ताकत बनाई और कड़ी मेहनत और लगन से उन्होंने वो मुकाम हासिल किया जिसकी ख्वाहिश उनके माता पिता रखते थे.

तर्कसंगत उनकी इस मेहनत और लगन को सलाम करता है.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...