ख़बरें

बिहार : अस्पताल ने डॉक्टरों से पूछा वर्जिनिटी पर सवाल

तर्कसंगत

August 3, 2017

SHARES

बिहार के एक सरकारी अस्पताल में डॉक्टरों से उनकी वर्जिनिटी के बारे में सवाल किया गया है.

पटना में स्थित इंदिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आईजीआईएमएस) ने अपने नवनियुक्त चिकित्सकों के लिए जारी वैवाहिक घोषणा में वर्जिनिटी से संबंधित सवाल भी पूछा है.

इस घोषणापत्र में संस्थान के साथ जुड़ रहे चिकित्सकों से वैवाहिक स्थितियों को लेकर उनकी वर्जिनिटी (कौमार्यता) की जानकारी भी मांगी गई है.


हाल में चयनित संविदा चिकित्सकों से उनके वैवाहिक जीवन से जुड़े ‘वैवाहिक घोषणा’ के कॉलम में शादीशुदा, विधुर या अविवाहित होने के साथ-साथ उनके वर्जिनिटी की जानकारी भी मांगी जा रही है.

इस संबंध में संस्थान के अधीक्षक डॉ. मनीष मंडल ने बीबीसी से कहा कि संस्थान सेंट्रल सर्विसेज रूल के तहत काम करती है.

उन्होंने कहा, “जो पैटर्न एम्स, दिल्ली में लागू है हम उसी का अनुसरण करते हैं. जिस घोषणा पत्र पर आज सवाल उठाया जा रहा है, वह वर्ष 1984 से ही भरा जा रहा है.”

मंडल का कहना है, “वैवाहिक घोषणा पत्र में उल्लेखित वर्जिन शब्द का अर्थ हिंदी में अविवाहित या कुँवारी कन्या है. यह शब्द आपत्तिजनक नहीं है.”

बिहार के अस्पताल में डॉक्टरों की वर्जिनिटी के बारे में सवाल पूछे जाने की मीडिया में खूब चर्चा हो रही है लेकिन बहुत से लोगों का मानना है कि बहस बिहार की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं पर होनी चाहिए.

वहीं, संस्थान की एक महिला डॉक्टर ने नाम न ज़ाहिर करते हुए बईबीसी से कहा, “जब घोषणा में अविवाहित होने की जानकारी मांगी जा रही है तो, उसके साथ कौमार्यता की जानकारी मांगने का क्या औचित्य है?”

उन्होंने कहा कि वैवाहिक घोषणा में बदलाव किया जाना चाहिए.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...