ख़बरें

घुटने  बदलवाना हुआ सस्ता, सर्जरी में 70 प्रतिशत की छूट

तर्कसंगत

August 17, 2017

SHARES

केंद्र सरकार ने घुटनों के प्रतिरोपण की कीमत में 70 फीसदी की कमी करते हुए लोगों के लिए स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक बड़ा और राहत भरा फैसला लिया है. सरकार ने ऑपरेशन के जरिए घुटने बदलवाने की कीमत को घटाते हुए 54 हजार रुपये से 1.14 लाख रुपये के बीच निर्धारित कर दी है. इससे सर्जरी की कीमत में 70 फीसदी की गिरावट आई है जो पहले के मुकाबले काफी सस्ता है.

रसायन और उर्वरक मंत्री अनंत कुमार ने मीडिया को बताया कि ऑपरेशन के जरिए घुटनों का प्रतिरोपण अब सस्ती कीमतों पर किया जाएगा. इसके लिए कीमतें फिक्स कर दी गई हैं और तय की हुई कीमत बुधवार से ही लागू हो गई है.

अनंत कुमार ने ये भी कहा कि सरकार के इस कदम से मरीजों के 1500 करोड़ रुपये बचेंगे. उन्होंने बताया कि सरकार के पास जो आंकड़े हैं उसके मुताबिक हर साल एक से डेढ़ लाख लोग ऑपरेशन के जरिए घुटने बदलवाते हैं.

सरकार के इस फैसले के बाद अब सामान्य घुटनों के प्रतिरोपण में सिर्फ 54,720 रुपये का खर्च आएगा जबकि पहले घुटने बदलवाने में डेढ़ से ढाई लाख रुपये तक का खर्च आता था.

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि सभी अस्पतालों में अलगअलग पांच तरीके से घुटनों का प्रत्यारोपण होता है. सभी अस्पताल स्टेंडर्ड कोबॉल्ट क्रोमीयम घुटनों का प्रत्यारोपण करते हैं, जिसके लिए ढाई लाख तक कीमत वसूलते हैं. मगर अब ये खर्च साठ हजार से भी कम हो गया है.

Revision Implant के लिए देश के बड़े अस्पताल 2 लाख 75 हज़ार से लेकर 6 लाख 50 हज़ार तक वसूलते थे, मगर सरकार ने इसकी कीमतें भी काफी घटा दी हैं. अब इस प्रतिरोपण का खर्च सिर्फ 1,13,950 रुपये हो गया है. वहीं कैंसर और ब्रेन ट्यूमर के मरीज़ों के स्पेशल Implant की क़ीमत 9 लाख तक वसूली जाती थी जिसे घटाकर 1,13,950 कर दिया गया है.

मेटल जिनकोनिम Knee Implant की कीमत ढाई से साढ़े चार लाख तक वसूली जाती है. सरकार ने इसे घटाकर 76600 रुपये तय कर दी हैं. इसके अलावा हाई Flexibility सीलिंग Knee Implant की क़ीमत जो पहले 1,81,728 थी, उसे घटाकर 56,490 कर दिया गया है.

हर साल करीब डेढ़ लाख लोग जो घुटनों का प्रतिरोपण करवाते हैं उन्हें इस फैसले से बड़ी राहत मिलेगी.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...