ख़बरें

बनारसः पान थूकने पर पांच सौ, गंदगी फैलाने पर सौ रुपए का जुर्माना

Poonam

September 8, 2017

SHARES

वाराणासी नगर निगम ने  पान खाकर थूकने पर पांच सौ रुपए और इधर और उधर पत्ते फेंकने पर सौ रुपए का जुर्माना लगाने का प्रस्ताव पारित किया है.

बनारसी पान वाराणासी की पहचान बन चुका है. यहां आम लोगों का पान खाकर इधर उधर थूकना संस्कृति का हिस्सा सा बन गया है.

पान बनारस कि पहचान से किस तरह जुड़ा है इसका अंदाज़ा आप डॉन फ़िल्म के मशहूर गीत खइके पान बनारस वाला की लोकप्रियता से लगा सकते हैं.

गंगा किनारे बसे ऐतिहासिक शहर बनारस की दीवारें पर इस पान की लाल रंग की पीक साफ़ दिखाई देती है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक वारणासी नगर निगम ने पान थूकने पर जुर्माने का फैसला शहर को साफ़ बनाने के अभियान के तहत लिया है.

संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनारस का प्रतिनिधित्व करते हैं. स्वच्छ भारत अभियान प्रधानमंत्री मोदी के सबसे महत्वाकांक्षी अभियानों में से एक है.

पान थूकने पर जुर्माने को इसी उद्देश्य को पूरा करने की दिशा में उठाया गया कदम माना जा रहा है.

नगर निगम के आयुक्त  नितिन बंसल कहते हैं कि बनारस में पान खाने पर कोई प्रतिबंध नहीं है लेकिन पान खाकर इधर उधर थूकने पर जुर्माने का प्रावधान लागू किया गया है.

दुनिया के सबसे प्राचीन शहरों में शामिल बनारस में पान खाना संस्कृति का हिस्सा है.

यहां गंगा किनारे घाटों पर पान की दुकाने कतार में दिख जाती हैं.

सिर्फ़ बनारस ही नहीं बल्कि देशभर में बनारस के नाम से पान की दुकाने हैं.

लेकिन पान खाकर कहीं भी थूक देने की लोगों की आदत बनारस को गंदा कर रही है.

उम्मीद की जा सकती है कि प्रशासन के इस क़दम के बाद लोग थोड़ा ज़िम्मेदार हो जाएंगे.

लोग पान तो खाएंगे लेकिन थोड़ा ज़िम्मेदारी के साथ.

वैसे पान की पीक पर जुर्माने को लागू करना आसान नहीं होगा. यूं तो सार्वजनिक स्थलों पर धुम्रपान करना भी प्रतिबंधित है लेकिन लोग बस या रेलवे स्टेशनों पर धुम्रपान करते दिख ही जाते हैं.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...