ख़बरें

बिहार में भगवान गणेश का जारी हुआ एडमिट कार्ड

तर्कसंगत

October 4, 2017

SHARES

आपने भगवान के दर्शन देने का किस्सा कई बार सुना होगा लेकिन बिहार में इस बार बीकॉम पार्ट – 1 की परीक्षा में भगवान गणेश बैठने वाले हैं. यह बात सुनने में जरूर अटपटा लग रहा है, लेकिन मिथिला विश्वविद्यालय को लगता है कि भगवान गणेश इस परीक्षा में बैठेंगे.

ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में 9 अक्टूबर से शुरू होने वाली परीक्षा के लिए बुधवार से परीक्षार्थियों को एडमिट कार्ड वितरण का काम शुरू हुआ. दरभंगा के रहने वाले कृष्ण कुमार राय नाम के एक परीक्षार्थी भी अपना एडमिट कार्ड प्राप्त करने के लिए मिथिला विश्वविद्यालय के दफ्तर पहुंचे. कृष्ण तब हैरान रह गये जब एडमिट कार्ड में उनकी तस्वीर के जगह पर साक्षात भगवान गणेश की तस्वीर छपी हुई थी. हद तो तब हो गई जब उनके हस्ताक्षर के बदले भगवान गणेश का हस्ताक्षर भी मौजूद था. वैसे गलती सिर्फ यहीं नहीं थी, एडमिट कार्ड में उनके घर का पता भी गलत लिखा हुआ था.

एडमिट कार्ड में गड़बड़ी को लेकर कृष्ण कुमार राय ने कहा कि उसने परीक्षा के लिए फॉर्म भरने के दौरान अपना नाम, पता और हस्ताक्षर समेत अपना फोटो चिपकाया था. मगर जारी किए हुए एडमिट कार्ड से सवाल यह उठता है कि क्या भगवान गणेश बीकॉम की परीक्षा में बैठेंगे? कृष्ण कुमार ने कहा कि इस गलती को सुधारने के लिए उसने विश्वविद्यालय के अधिकारियों से बातचीत की पर किसी ने उसकी मदद नहीं की. कृष्ण कुमार ने कहा कि उसके एडमिट कार्ड में गलती. पूरी तरीके से विश्वविद्यालय की लापरवाही का नतीजा है.

जब विश्वविद्यालय के आला अधिकारियों को इस गलती की भनक लगी तो उन्होंने सारा दोष उस साइबर कैफे पर डाल दिया जहां पर परीक्षार्थियों के एडमिट कार्ड को तैयार किया गया था. कुलानंद यादव, मिथिला विश्वविद्यालय के कंट्रोलर ऑफ एग्जामिनेशन ने कहा कि एडमिट कार्ड में हुए इस गलती की वह जांच करवाएंगे. उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि कृष्ण कुमार को परीक्षा देने में किसी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा.

भले ही गलती किसी की भी हो लेकिन सवाल ये उठता है कि ऐसे कैसे शिक्षा तंत्र पर भरोसा किया जाए?


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...