ख़बरें

ओडीशाः सैन्यबलों पर नाबालिग से रेप का आरोप

तर्कसंगत

October 15, 2017

SHARES

स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक ओडीशा के कोरापुट में एक नाबालिग छात्रा का चार वर्दीधारियों ने बलात्कार किया है.

ये घटना दस अक्तूबर की है. पीड़ित छात्रा कुंडूली में पासपोर्ट तस्वीर खिंचवाकर लौट रही थी जब उसे चार वर्दीधारी खींचकर जंगल ले गए.

अस्पताल में भर्ती छात्रा ने अपने परिजनों को बताया है कि बलात्कार करने वाले पुरुषों ने “जंगल यूनीफ़ार्म” पहन रखी थी.

पीड़िता के बयान के बाद परिजनों और स्थानीय लोगों ने सैन्यबलों पर बलात्कार करने का आरोप लगाया है.

घटना के बारे में जानकारी होने के बाद लोगों ने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 26 पर बुधवार सुबह जाम भी लगाया था.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक 33 घंटे के बाद ये पुलिस और ज़िला प्रशासन से अभियुक्तों की गिरफ़्तारी का भरोसा मिलने के बाद ये जाम खोला गया है.

घटना के बाद मंगलवार शाम को जारी किए गए एक बयान में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने दुख और गुस्सा ज़ाहिर किया था.

Protest at Cuttack against Koraput gang rape 9th class Student.

Rajesh Kumar Rout 发布于 2017年10月13日

पोटांगी पुलिस थाने में आईपीसी 376 (डी) और 377 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. पोक्सो एक्ट की धाराएं भी एफ़आईआर में लगाई गई हैं.

जांच के लिए एक विशेष पुलिस दल गठित किया गया है. हालांकि अभी तक अभियुक्तों की पहचान नहीं हो सकी है.

पुलिस का कहना है कि पीड़ित लड़की को बीएसएफ़ और सीआरपीएफ़ की कोबरा यूनिट के कैंपों में ले जाया जाएगा.

पीड़िता पर जहां हमला हुआ है उससे 35 किलोमटीर दूर बीएसएफ़ का कैंप है जबकि 25 किलोमीटर दूर कोबरा बलों का कैंप है.

Protest by AISF and AIYF at Master canteen square against gang rape of tribal minor student of koraput .

Gohigobinda Beshra 发布于 2017年10月11日

ओडीशा के महिला आयोग ने भी घटना का स्वतः संज्ञान लिया है. राज्य के मानवाधिकार आयोग ने भी पुलिस, राज्य के एसटी एससी विकास विभाग, ज़िलाधिकारी और
पुलिस अधीक्षक से सात दिनों के भीतर घटना पर अलग-अलग रिपोर्टें पेश करने के लिए कहा है.

पीड़िता ने अपने बयान में कहा है कि हमलावरों ने ‘जंगल यूनीफ़ार्म’ पहन रखी थी. डीजीपी राजेंद्र प्रसाद शर्मा ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया से कहा है कि इस वर्दी को सैनिकों,
अर्धसैनिकों, आम लोगों या माओवादियों समेत कोई भी पहने हो सकता है. प्रसाद ने कहा, “घटना में जो भी शामिल हैं उन्हें पकड़ लिया जाएगा.”

हालांकि माओवादियों ने घटना में शामिल होने से इनकार करते हुए एक ऑडियो संदेश जारी किया है. हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक इस संदेश में कहा गया है कि “माओवादी
इस तरह के अमानवीय कृत्यों को अंजाम नहीं देते हैं.”

माओवादियों ने घटना के विरोध में 16 अक्तूबर को कोरापुट ज़िले में बंध भी बुलाया है.

source: Hindustan Times, The Times of India, Economic Times, thewire.in


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...