ख़बरें

गुजरातः पुलिस पिटाई से मौत पर हंगामा, गोलीबारी में एक और किसान की मौत

तर्कसंगत

October 27, 2017

SHARES

गुजरात के दाहोद में पुलिस हिरासत में कथित मारपीट के बाद एक किसान की मौत से तनाव हो गया है.

गुरुवार को दाहोद ज़िले के गरबाडा तालुका के आदिवासी गांव चिलकोटा के एक किसान की पुलिस हिरासत में हुई कथित पिटाई के बाद मौत हो गई जिससे स्थानीय लोगों का गुस्सा भड़क गया.

पुलिस पर हत्या का मुक़दमा दर्ज करने की मांग को लेकर स्थानीय लोगों ने थाने के बाहर प्रदर्शन किया. कई वाहनों को आग लगा दी गई.

किसानों को तितर बितर करने के लिए शाम को पुलिस ने गोली चला दी जिसमें एक किसान की सिर में गोली लगने से मौत हो गई.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस गोलीबारी में किसान की मौत के बाद तनाव और ज़्यादा बढ़ गया है.

रिपोर्टों के मुताबिक पुलिस 31 वर्षीय कणेश गामरा को गुरुवार सुबह पूछताछ के लिए थाने ले गई थी. उनका भाई डकैती के एक मामले में वांछित है.

पुलिस ने गामरा को गुरुवार दोपहर करीब तीन बजे छोड़ दिया था जिसके एक घंटे के भीतर ही उसकी मौत हो गई.

ग्रामीणों ने गामरा का शव रखकर पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज करने को लेकर प्रदर्शन किया.

पुलिस ने दुर्घटनावश मौत का मुक़दमा दर्ज करने की बात कही तो ग्रामीण भड़क गए और पुलिस स्टेशन पर पत्थरबाज़ी कर दी गई.

पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे और गोली भी चला दी जिसमें तीन लोग घायल हो गए. गोली लगने से एक पैंतालीस वर्षीय किसान की मौत हो गई.

इंडियन एक्सप्रैस की रिपोर्ट के मुताबिक गोली लगने से मारे गए किसान रामसू मोहनिया सब्ज़ी लेने के लिए बाज़ार गए थे.

वहीं पुलिस का कहना है कि पत्थरबाज़ी में 7-8 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं.

पुलिस का कहना है कि गामरा को उनके भाई के बारे में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था और बाद में छोड़ दिया गया था.

वहीं ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस हिरासत में गामरा को बुरी तरह मारा पीटा गया जिससे उनकी मौत हो गई.

Source: Indian Express, newstok24.com


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...