ख़बरें

महाराष्ट्रः कौमार्य परीक्षण का विरोध करने पर युवाओं को पीटा

तर्कसंगत

January 24, 2018

SHARES

महाराष्ट्र के पुणे में दुल्हन के कौमार्य परीक्षण का विरोध करने पर कंजरभट समुदाय के लोगों ने तीन युवाओं को पीट दिया.

द टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये घटना पुणे के भट नगर इलाक़े की है.

युवा शादी के दिन दुल्हन का कौमार्य परीक्षण किए जाने का विरोध कर रहे थे. ये परंपरा इस समुदाय में लंबे समय से चली आ रही है.

प्रशांत इंद्रेकर, सौरभ मचाले और प्रशांत तामिचकर इस परंपरा के ख़िलाफ़ अभियान चलाने वाले एक व्हाट्सएप समूह से जुड़े हैं.

ये लोग स्टॉप द वीरिचुअल समूह चलाते हैं जो इस परंपरा के खिलाफ़ जागरुकता फैला रहा है.

इस परंपरा के तहत शादी के दिन दुल्हन को कौमार्य परीक्षण से गुज़रना पड़ता है और अगर वो इसमें नाकाम हो जाती है तो दंपती को हर्जाना देना पड़ता है.

पीटे गए युवाओं में से एक इंद्रेकर ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि वो अपने परिवार के साथ शादी में शामिल हुए थे. वहां उन्होंने देखा कि जाति के लोगों की पंचायत दुल्हन और दूल्हे से पैसे मांगने की बात कर रही थी.

इंद्रेकर के मुताबिक लोग कौमार्य परीक्षण का समर्थन कर रहे थे और किसी ने भी वहां इसका विरोध नहीं किया.

इंद्रेकर का कहना है कि वो लोग जानते थे कि मैं और मेरे दोस्त मिलकर व्हाट्सएप पर इस परंपरा के ख़िलाफ़ अभियान चला रहे हैं.

उनके मुताबिक दुल्हन के भाई समेत करीब तीसचालीस युवाओं ने उनके दोस्तों जितेंद्र मचाले और प्रशांत विजय तामिचकर पर हमला कर दिया.

पुलिस ने इस घटना के संबंध में मुक़दमा दर्ज करके दो लोगों को गिरफ़्तार किया है. पुलिस में दर्ज रिपोर्ट के मुताबिक इन युवाओं पर पंचायत की लंबे समय से चली आ रही परंपरा का विरोध करने के कारण हमला हुआ है.

इन युवाओं का कहना है कि वो सोशल मीडिया पर इस परंपरा के ख़िलाफ़ अभियान चला रहे हैं जिसकी वजह से समाज के कुछ लोग उनके ख़िलाफ़ हो गए हैं.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...