सप्रेक

सलामः अमरनाथ यात्रियों की जान बचाने वाले को मिलेगा जीवन रक्षक पदक

तर्कसंगत

January 25, 2018

SHARES

जुलाई 2017 में अमरनाथ में बस यात्रियों पर हुए आंतकवादी हमले में जान पर खेलकर यात्रियों की जान बचाने वाले बस के ड्राइवर सलीम शेख को जीवन रक्षक पदक से सम्मानित किया जाएगा.

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को इस साल 44 लोगों को जीवन रक्षक पदक दिए जाने पर मुहर लगा दी.

पदक विजेताओं में सूरत के ड्राइवर सलीम शेख भी शामिल हैं जिन्होंने बीते साल जुलाई में अमरनाथ यात्रा के दौरान हुए हमले में अपनी बस में सवार यात्रियों की जान बचाई थी.

सूरत के रहने वाले सलीम शेख उस बस को चला रहे थे जिस पर हमला हुआ था. इस हमले में 8 यात्रियों की मौत हो गई थी.

जीवन रक्षक पदक विजेताओं के नामों की घोषणा गृह मंत्रालय गणतंत्र दिवस से पहले करता है. भारत के राष्ट्रपति इन नामों को मंज़ूरी देते हैं.

अवॉर्ड मिलने की घोषणा के बाद सलीम शेख ने कहा, “मैं ये अवॉर्ड पाकर बहुत ख़ुश हूं, मेरी ख़ुशी दोगुनी होती अगर मैं सब यात्रियों की जान बचा पाता.”

हमले के बाद सलीम शेख ने टायर फटे होने के बावजूद बस को दो किलोमीटर तक दुर्गम रास्ते पर दौड़ाया था और सुरक्षित ठिकाने पर पहुंचाया था.

इस दौरान आतंकवादियों ने बस पर गोलीबारी भी की थी.

नागरिकों की बहादुरी के लिए हर साल जीवन रक्षक पदकों की घोषणा की जाती है. ये तीन श्रेणियों में होते हैं. इस साल सात लोगों को सर्वोत्तम जीवन रक्षक पदक, तेरह लोगों को उत्तम जीवन रक्षक पदक और चौबीस लोगों को जीवन रक्षक पदक से नवाज़ा गया है.

ये पदक उन लोगों को दिए जाते हैं जिन्होंने लोगों की जान बचायी हो. इस अवॉर्ड के साथ ही एक लाख रुपए का ईनाम भी दिया जाता है.

नामों की घोषणा होने के बाद संबंधित राज्य सरकारें ये अवॉर्ड और धनराशि देती हैं.

मध्य प्रदेश के रहने वाले बबलू मार्टिन को मरणोपरांत सर्वोत्तम जीवन रक्षक पदक दिया गया है. एक धराशाई हुई इमारत में फंसे तीन बच्चों की जान बचाते हुए बबलू मार्टिन की मौत हो गई थी.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...