ख़बरें

कासगंज: सोशल मीडिया पर मरा युवक बोला हिंसा के लिए हुआ मेरा इस्तेमाल

तर्कसंगत

January 30, 2018

SHARES

उत्तर प्रदेश के कासगंज में गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा में एक युवक की मौत के बाद पैदा हुआ तनाव अभी समाप्त नहीं हुआ है.

प्रशासन ने सौ से ज़्यादा लोगों को गिरफ़्तार किया है और ज़िले के पुलिस अधीक्षक को भी पद से हटा दिया गया है.

लेकिन इस बीच सोशल मीडिया पर अफ़वाहों का दौर जारी है. और ऐसी अफ़वाहें कुछ मीडिया संस्थान भी फैला रहे हैं.

कई रिपोर्टों में बताया गया था कि कासगंज हिंसा में घायल राहुल उपाध्याय नाम के एक युवक की भी मौत हो गई है.

लेकिन सोमवार को राहुल उपाध्याय ने मीडिया के सामने पेश होकर बताया कि वो ज़िंदा हैं और हिंसा से उनका कोई संबंध नहीं हैं..

 

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक राहुल उपाध्याय ने कहा है कि नफ़रत फैलाने वाले लोगों ने उसके नाम का इस्तमाल किया है.

राहुल ने बताया कि सोशल मीडिया पर उनकी मौत की ख़बर वायरल होने के बाद बहुत से लोगों ने फोन करके उनका हालचाल पूछा है.

राहुल ने कहा, “मुझे अहसास हुआ कि कुछ लोग हैं जो नफ़रत और हिंसा फैलाने के लिए मेरे नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि हिंदू मारे जा रहे हैं.”

राहुल को सोशल मीडिया पर कई स्क्रीनशॉट भेजे गए जिनमें उनकी तस्वीर और हिंसा में मारे जाने की ख़बर थी.

राहुल बताते हैं कि इसके बाद उन्होंने पुलिस से संपर्क किया और सबको सच बताने की बात कही.

वहीं पुलिस का कहना है कि सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफ़वाहों में राहुल की मौत की बात कही गई है लेकिन वो न सिर्फ़ ज़िंदा है बल्कि उनका इससे कोई संबंध भी नहीं है.

स्रोतः इंडियन एक्सप्रेस


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...