ख़बरें

गैंगरेप के बाद छात्रा को कुएं में फेंका, 40 घंटे बाद बचाया गया

तर्कसंगत

February 1, 2018

SHARES

राजस्थान के झुंझनू ज़िले में एक नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप कर उसे एक कुएं में फेंक दिया गया.

करीब चालीस घंटे कुए में पड़ी रहने के बाद छात्रा को बचा लिया गया है. वो फिलहाल अस्पताल में भर्ती है.

स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक छात्रा के साथ पांच छात्रों ने गैंगरेप किया था.

पुलिस का कहना है कि पीड़िता का बयान दर्ज कर आगे की जांच की जा रही है.

पीड़िता के परिजनों का कहना है कि छात्रा 27 जनवरी की रात से लापता थी और उसे 29 जनवरी की शाम को कुएं से बरामद किया गया.

छात्रा करीब चालीस घंटे बेहोशी की हालत में कुएं में ही पड़ी रही. होश में आने पर उसने शोर मचाया.

छात्रा के मामा की ओर से पांच छात्रों के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कराया गया है.

पुलिस का कहना है कि सभी छात्र नाबालिग है.

पुलिस का कहना है कि अभियुक्त छात्रा के साथ ही पढ़ते हैं और उससे फ़ेसबुक पर चैटिंग किया करते थे.

उन्होंने ही छात्रा को मिलने के लिए बुलाया था.

पुलिस जांच में ये भी पता चला है कि छात्रा ने अपनी कुछ दोस्तों को बॉय का मैसेज भी किया था.

राजस्थान के झुंझनू की एस घटना न सिर्फ़ क़ानून व्यवस्था पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं बल्कि हमारे सामाजिक मूल्यों को भी कटघरे में कड़ा कर दिया है.

इस मामले में लिप्त सभी अभियुक्त नाबालिग है जो बताता है कि हमारी आने वाली पीढ़ि किस ख़तरनाक दिशा में जा रही है.

जिन लड़कों ने गैंगरेप की इस घटना को अंजाम दिया है वो सभी लड़की के परिचित थे.

जिस लड़के ने उसे बुलाया था बहुत मुमकिन है उससे लड़की के दोस्ताना संबंध भी रहे हैं. छात्रा भरोसा कर अपने घर से उनके पास चली गई.

ये भरोसा ही उसके लिए ख़तरनाक हो गया. स्कूलों और कॉलेजों में लड़कियों को ऐसी घटनाओं से बचाने के लिए जागरुकता अभियान चलाए जाने की ज़रूरत है.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...