ख़बरें

भ्रष्टाचारः टैक्स चोरी करवाने के लिए रिश्वत लेने वाला जीएसटी कमिश्नर रंगे हाथों गिरफ़्तार

Poonam

February 4, 2018

SHARES

सीबीआई ने उत्तर प्रदेश के कानपुर से एक जीएसटी कमिश्नर और उसके सहयोगियों को रिश्वत लेने का आरोप में गिरफ़्तार किया है.

जीएसटी में भ्रष्टाचार में गिरफ़्तारी का ये पहला मामला बताया जा रहा है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक सीबीआई ने 1986 बैच के भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी संसार चंद और उनके कई साथियों को गिरफ़्तार किया है.

संसार चंद निजी कंपनियों से रिश्वत लेकर टैक्स चोरी में उनकी मदद कर रहे थे.

गिरफ़्तार किए गए अधिकारियों ने कंपनियों के लिए हर महीने पहुंचाई जाने वाली रिश्वत निर्धारित कर रखी थी.

सीबीआई की जांच में पता चला है कि कानपुर में जीएसटी आयुक्त संसार चंद ने कंपनियों से अपने दिल्ली स्थित घर में टीवी, मोबाइल फ़ोन और अन्य सामान भी डिलीवर करवाए थे.

वो दिल्ली के डिफ़ेंस कॉलोनी के एक बंगले में रहते हैं.

जीएसटी आयुक्त के अलावा सीबीआई ने उनके अधिनस्थ अधिकारी अजय श्रीवास्तव, अमान शाह और राजीव चंदेल पर भी मुक़दमा दर्ज किया गया है. इसके अलावा इनके ऑफ़िस स्टाफ़ को भी अभियुक्त बनाया गया है.

सीबीआई ने संसार चंद की पत्नी अविनाश कौर और हवाला दलाल अमित अवस्थी, अमन जैन और चंद्र प्रकाश को भी रिश्वतखोरी के मामले में अभियुक्त बनाया है.

इसके अलावा रिश्वत देने वाले मनीश शर्मा पर भी मुक़दमा दर्ज किया गया है. वो एक निजी कंपनी के मालिक हैं.

शुक्रवार को दर्ज एफ़आईआर के मुताबिक सीबीआई को जानकारी मिली थी कि संसार चंद और उनके सहयोगी अधिकारी टैक्स चोरी में मदद के बदले निजी कंपनियों से नियमित रिश्वत ले रहे हैं.

सीबीआई की एफ़आईआर में रिश्वत के तौर पर टीवी सेट, मोबाइल फ़ोन और अन्य सामान दिए जाने का भी ज़िक्र है.

अमर उजाला की एक रिपोर्ट के मुताबिक संसार चंद रिश्वत की रकम पर खुद नज़र रखता था और इसका बराबर हिसाब किताब भी रखता था.

सीबीआई ने अभियुक्तों की गिरफ़्तारी के दौरान कई ठिकानों पर की गई छापेमारी में कुल 58 लाख रुपए बरामद किए हैं.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...