ख़बरें

पाकिस्तान की गोलीबारी में कैप्टन समेत चार जवान शहीद

तर्कसंगत

February 5, 2018

SHARES

कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर से की गई गोलीबारी में रविवार को एक कैप्टन समेत चार भारतीय सैनिकों की मौत हो गई है.

इस ताज़ा झड़प के बाद सीमा के दोनों ओर तनाव बेहद ज़्यादा बढ़ गया है.

भारत के शहीद जवानों की पहचान कैप्टन कपिल कुंडु, हवलदार रोशन लाल, राम अवतार सिंह और शुभम सिंह के रूप में हुई है.

भारतीय अधिकारियों के मुताबिक पाकिस्तान सेना की ओर से की जा रही गोलीबारी में राजौरी सैक्टर के आसपास के इलाक़े सबसे ज़्यादा प्रभावित हैं.

गोलीबारी की वजह से यहां स्कूल बंद करवा दिए गए हैं.

अधिकारियों का कहना है कि पाकिस्तान ने रविवार सुबह ही बिना किसी उकसावे के ज़बरदस्त गोलीबारी शुरू कर दी थी.

इस गोलीबारी में एक पंद्रह वर्षीय लड़की के अलावा एक जवान भी घायल हो गया था.

पिछले महीने भी राजौरी सेक्टर के पास पाकिस्तान की गोलीबारी में चौदह लोग मारे गए थे. इनमें से आठ आम नागरिक थे जबकि छह सुरक्षाबलों के जवान थे.

भारत और पाकिस्तान दोनों ही एक दूसरे पर संघर्ष विराम के उल्लंघन का आरोप लगाते रहे हैं.

बीते महीने भारत की ओर से की गई गोलीबारी में कई पाकिस्तानी सैनिकों के मारे जाने का दावा किया गया था.

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान की ओर से उच्च क्षमता वाले हथियारों से गोलीबारी की जा रही है.

सेना से जुड़े लोगों का कहना है कि हल्के हथियारों से हताहत इतने ज़्यादा नहीं होंगे.

भारतीय सेना के प्रवक्ता का कहना है कि भारत पूरी ताक़त से इस गोलीबारी का जवाब दे रहा है और कई पाकिस्तानी चौकियां तबाह कर दी गई हैं.

प्रवक्ता ने कहा, भारतीय जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी और पाकिस्तानी सेना को मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा.

बीते साल नियंत्रण रेखा पर दोनों से संघर्ष विराम उल्लंघन की 860 घटनाएं हुईं थीं. इनमें 147 घटनाएं तो सिर्फ़ दिसंबर में ही हुईं थीं.

बीते साल सीमा पर तनाव पिछले कुछ सालों के मुक़ाबले में बहुत ज़्यादा बढ़ गया है. उदाहरण के तौर पर साल 2016 में संघर्ष विराम की 271 घटनाएं हुईं थी जबकि 2015 में संख्या 387 थी.

स्रोतः बीबीसी न्यूज़, इंडियन एक्सप्रैस


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...