ख़बरें

राम माधव का कथित नगालैंड स्कैंडल, सच क्या है?

तर्कसंगत

February 11, 2018

SHARES

एक गुमनाम सी न्यू़ज़ वेबसाइट ने पूर्वोत्तर के लिए बीजेपी प्रभारी राम माधव के बारे में आपत्तिजनक ख़बर प्रकाशित की है.

इस ख़बर में बीजेपी के राष्ट्रीय स्तर के नेता राम माधव के बारे में बेहद आपत्तिजनक दावा किया है.

Sources said, NSCN literally caught Ram Madhav with his pants down in Nagaland; has threatened to make video public if Nagaland elections not cancelled.

Geplaatst door The News Joint op zondag 11 februari 2018

राम माधव ने इस ख़बर को पूरी तरह से फ़र्ज़ी बताया है. राम माधव ने अब से कुछ देर पहले ये ट्वीट किया है.

भाजपा की ओर से कहा गया है कि न्यूज़ वेबसाइट के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई की जा रही है. बीजेपी ने इस संबंध में कोहिमा में एक एफ़आईआर दर्ज करवा दी है और दिल्ली में एफ़आईआर दर्ज करवाई जा रही है.

‘द न्यूज़ ज्वाइंट’ नाम की वेबसाइट पर विवादित लेख प्रकाशित होने के बाद सोशल मीडिया में एक कथित प्रेस रिलीज़ भी घूम रही है जो बीजेपी की बतायी जा रही है.

हालांकि नगालैंड बीजेपी के अधिकारिक ट्विटर अकाउंट या वेबसाइट पर कोई प्रैस विज्ञप्ति नहीं है.

ऐसे में बहुत मुमकिन है कि ये प्रैस रिलीज़ भी फ़र्ज़ी हो और उस कथित ख़बर को विश्वस्नीयता देने के लिए फैलाई जा रही हो.

इस सबके बीच राम माधव ट्विटर पर ट्रैंड करने लगे हैं.

कई तरह के लोग कई तरह की टिप्पणियां कर रहे हैं जिनमें कुछ पत्रकार भी शामिल हैं.

 

राम माधव के नगालैंड में इस कथित स्कैंडल का सच क्या है ये कहना अभी मुश्किल है.

लेकिन इससे एक बात तो स्पष्ट होती है कि सोशल मीडिया के दौर में किसी ग़ुमनाम सी वेबसाइट का कोई ‘काल्पनिक लेख’ भी चर्चा का विषय बन सकता है.

राम माधव ने अपने दीमापुर में होने संबंधित ये पोस्ट दस फ़रवरी को रिट्वीट की थी.

वहीं उन्होंने तीन घंटे पहले अमित शाह की ये पोस्ट रिट्वीट की है.

नगालैंड में 27 फ़रवरी को मतदान होना है.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...