ख़बरें

बैंक ने मामला सार्वजनिक कर बकाया वसूलने के रास्ते बंद किएः नीरव मोदी

तर्कसंगत

February 19, 2018

SHARES

देश के बैंकिंग सेक्टर के सबसे बड़े घोटाले के अभियुक्त नीरव मोदी ने पीएनबी मैनेजमेंट को एक पत्र लिखा है. नीरव मोदी ने कहा है कि पंजाब नेशनल बैंक ने मामले को सार्वजनिक कर उससे बकाया वसूलने के सारे रास्ते बंद कर लिए हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक पीएनबी प्रबंधन को 15/16 फरवरी को लिखे एक पत्र में नीरव वर मोदी ने कहा कि उसकी कंपनियों पर बैंक का बकाया 5,000 करोड़ रुपये से कम है.

1) देनदारी की गलत जानकारी देने से बिगड़ा मामला

नीरव ने लेटर में कहा, ” जैसा कि आप जानते हैं, नीरव मोदी ग्रुप की देनदारी काफी कम थी. आपकी शिकायत के बाद भी मैंने आप से दरख्वास्त की थी कि मुझे फायरस्टार ग्रुप या उसकी संपत्ति को बेचने का वक्त दें ताकि बकाये का भुगतान किया जा सके. मेरी संपत्ति करीब 6,500 करोड़ की है, अगर ये भुगतान कर दिया जाता तो बैंकिंग सिस्टम का बोझ कुछ कम होता. लेकिन ये मुमकिन नहीं हो पाया क्योंकि मेरे सारे खाते फ्रीज कर दिए गए और संपत्तियां सील कर दी गईं.

2) पीएनबी को हमसे बड़ा फायदा पहुंचा

पीएनबी ने कई मौकों पर हमारी साख की सराहना की है जब हमारी तीनों पार्टनरशिप फर्म्स ने पैसे लिए और वक्त से लौटाए. फायरस्टार इंटरनेशनल और फायरस्टार डायमंड इंटरनेशनल कभी भी डिफॉल्टर लिस्ट में नहीं रही है. बैंकर्स के पैसे इस ग्रुप में हमेशा महफूज रहे हैं। पीएनबी ने हमसे बायर्स क्रेडिट फेसिलिटी शुल्क के तौर पर करोड़ों रूपये की कमाई की है.

3) देनदारी वसूलने का वक्त बीत गया.

सीबीआई और ईडी ने करीब 5,649 करोड़ की सपंत्ति जब्त की है. हमारी तीनों फर्म बैंक का सारा बकाया चुकाने में सक्षम थी, लेकिन लगता है वो वक़्त अब निकल चुका है. बैंक को मेरी कोशिशों की सराहना करनी चाहिए और मेरे साथ न्याय करना चाहिए.

4) परिवार को जबरन मसले में घसीटा जा रहा है. 

मेरे भाई और मेरी पत्नी का जिक्र जबरन किया जा रहा है. वो लोग मेरे काराबोर का हिस्सा नहीं रहे हैं. इस शिकायत में मेरे अंकल का जिक्र भी ग़लत तरीके से किया जा रहा है, उन्हें आपके बैंक से मेरे लेन-देन के बारे में जानकारी नहीं है. मैंने जो भी किया है, उसके नतीजों का सामना मैं करूंगा.”

पीएनबी महाघोटाले में अब तक का अपडेट
ईडी ने मुंबई समेत देश के 39 ठिकानों पर मारे छापे और अब तक 5716 करोड़ की संपत्ति जब्त कर ली है. सीबीआई ने प्रफुल सावंत, स्केल-वन ऑफिसर, बेचू तिवारी, चीफ मैनेजर फोरेक्स डिपार्टमेंट और यशवंत जोशी, स्केल-2 मैनेजर फोरेक्स डिपार्टमेंट को गिरफ्तार कर लिया है.

तीनों गिरफ्तार बैंक अफसरों के घरों पर छापेमारी की गई जिसमें सीबीआई टीम ने 10 कंप्यूटर, कुछ फाइल और दस्तावेज जब्त किये हैं. मुंबई के सीबीआई दफ्तर में नीरव मोदी के 4 करीबियों से पूछताछ हुई जिसमें रवि गुप्ता (CFO) विपुल अंबानी (VP) से भी  पूछताछ हुई.

पीएनबी ने गीतांजली ग्रुप से 1,045 करोड़ रुपये जमा करने को कहा है. नीरव मोदी को जारी ईडी के समन का अभी तक जवाब नहीं मिला और गोकुल नाथ शेट्टी के प्रमोशन न किए जाने की भी जांच हो रही है.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...