सप्रेक

पीलीभीत : डंडे से पीटकर बाघ को भगाया, बचाई पति की जान

तर्कसंगत

February 19, 2018

SHARES

पीलीभीत में एक महिला ने बहादुरी की मिसाल पेश करते हुए अपने पति को काल के मुंह से खींच लाई. दरअसल पीलीभीत में एक किसान खेत में काम करने जा रहा था उसी वक्त अचानक से एक बाघ ने उस पर हमला कर दिया. लेकिन किसान की पत्नी ने निडर होकर अकेले ही 10 मिनट तक बाघ का सामना किया और अपने पति की जान बचा ली. इतना ही नहीं बल्कि बाघ को वहां से भागने पर मजबूर कर दिया.

पीलीभीत टाइगर रिजर्व से सटे गांवों में अब बाघों का खतरा बढ़ने लगा है. जंगलों के खूंखार जानवर अब लगातार रिहाइशी इलाकों का रुख करने लगे हैं और लोगों पर हमला कर रहे हैं. ये वाकया संडाई हाल्ट का है.

यहां रहने वाले रंजीत खेत की बंदरो से रखवाली करने जा रहे थे. तभी एक बाघ ने उन पर जानलेवा हमला कर दिया और रंजीत की गर्दन पकड़कर घसीटता हुआ जंगल में ले जाने लगा. रंजीत की पत्नी ये देखकर पहले तो घबरा गईं लेकिन पति की जान को खतरे में देखकर राज कौर एक छोटा से डंडे की मदद से ही बाघ के साथ भिड़ गई.10 मिनट तक राज कौर डंडे से लगातार बाघ पर प्रहार करती रही और शोर मचाती रही. लिहाजा थक हारकर बाघ को वहां से भागना पड़ा.

बाघ तो जंगल में भाग गया लेकिन रंजीत घायल हो गए. रंजीत का सिर बुरी तरह से जख्मी हो गया था और उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ा, जहां उनकी हालत अब स्थिर है.

वन विभाग कार्रवाई करने के बजाय किसानों को ही सवाधानी बरतने की नसीहत दे रहा है. गांव वाले खेतों मे जाने से डर रहे हैं क्योंकि कई महीनों से बाघों का रिहाइशी इलाको में आना आम हो गयाा है. लिहाजा अब उन्हें प्रशासन से उम्मीद है लेकिन प्रशासन माकूल हल ढूढ़ने के बजाय किसानों को ही सावधान रहने को कह रहे है.

लेकिन बड़ा सवाल ये है की आखिर क्यों जंगल छोड़कर जानवर रिहाइशी इलाकों का रुख कर रहे हैं.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...