ख़बरें

कॉलेज से घर लौट रही छात्रा की सिरफिरे आशिक़ ने की हत्या

तर्कसंगत

February 23, 2018

SHARES

केरल की रहने वाली अक्षता कर्नाटक के दक्षिण कन्नड ज़िले के सलिया में नेहरू मेमोरियल कॉलेज में पढ़ती थीं.

वो केरल के शांतीनगर से रोज़ाना पढ़ने के लिए सलिया जाती थीं.

मंगलवार को अक्षता के साथ पढ़ने वाले कार्तिक नाम के एक छात्र ने  चाकू से हमलाकर उसकी हत्या कर दी.

अक्षता बस पकड़ने के लिए बस स्टॉप की ओर जा रहीं थीं. कार्तिक ने पीछे से आकर उन पर चाकू से पार कर दिया. जिस समय ये हमला हुआ कई लोग वहां मौजूद थे.

लोगों ने कार्तिक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया.

पुलिस का कहना है कि अक्षता ने कार्तिक के प्रेम प्रस्ताव को ठुकरा दिया था जिससे वो आहत था. पुलिस का कहना है कि हमला करने के दौरान ही कार्तिक भी मामूली रूप से घायल हो गया था.

इस तरह के सिरफिरे आशिक़ों के हमला करने की घटनाएं ख़बरों में आती रहती हैं.

अक्षता अपने माता-पिता की इकलौती संतान थी और वो पढ़ने के लिए रोज़ाना पैंतालीस किलोमीटर दूर आतीं थीं.

एक लड़की जो पढ़-लिखकर अपना जीवन बेहतर बनाने के लिए संघर्ष कर रही थी उसकी जान एक सिरफिरे आशिक़ ने ले ली.

मध्य प्रदेश में स्कूल के बाहर छात्रा का गला काटा

वहीं मध्य प्रदेश के अनूपपुर में बायोलॉजी की प्रेक्टिकल परीक्षा देने आई पूजा नाम की एक छात्रा की एक उसके स्कूल के सामने ही तलवार से हमला कर हत्या कर दी गई.

पूजा की हत्या के शक़ में दिलीप साहू नाम के एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया गया है जो कई सालों से उसका पीछा कर रहा था. ये घटना गुरुवार को अनुपपुर के पास एक गांव में हुई. घटना के चश्मदीद एक रिटायर्ड शिक्षक ने पुलिस को बताया है कि पूजा जब स्कूल के पास पहुंची तब हमलावर ने उसकी गर्दन पर तलवार से ताबड़तोड़ वार किया. पूजा की हत्या के बाद हमलावर तलवार को मौके पर ही छोड़कर फरार हो गया था.

अपराध की ये घटनाएं हमारे सामाजिक मूल्यों पर गंभीर सवाल भी खड़े करती है और बताती है कि लड़कियों के लिए हालात कितने मुश्किल हैं.

इन दोनों ही मामलों में पुलिस ने हमलावर को गिरफ़्तार कर लिया है. ऐसी घटनाएं न हो इसके लिए क़दम उठाना बेहद ज़रूरी हो गया है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...