ख़बरें

तमिलनाडुः टमाटर फेंकने पर मजबूर क्यों हैं किसान?

तर्कसंगत

March 2, 2018

SHARES

तमिलनाडु में इस महीने टमाटर के दाम बीस रुपए प्रति किलो से गिरकर दो रुपए प्रति किलो तक पहुंच गए हैं.

परेशान किसानों को अपनी फसल फेंकनी पड़ रही है.

दरअसल पिछले साल टमाटर का दाम 70 रुपए किलो तक पहुंच गया था. बेहतर दामों की उम्मीद में बड़ी तादाद में किसानों ने टमाटर उगाया था.

एक महीना पहले तक भी टमाटर का दाम बीस रुपए प्रति किलो तक था. फिर ये सात रुपए किलो पर आया. अचानक गिरे दामों की वजह से किसानों को अपनी उपज झीलों के किनारे फेंकनी पड़ रही है.

तमिलनाडु के रायाकोट्टाई, कृष्णागिरी और सेलम ज़िलों में किसान बड़े पैमाने पर टमाटर उगाते हैं. दाम गिर जाने के कारण इन क्षेत्रों में किसान अपनी उपज को झीलों के पास फेंक रहे हैं.

टमाटर की फसल को देर तक रखा भी नहीं जा सकता है. कम समय में पैदा होने वाले टमाटर सही दाम न मिलने पर बर्बाद हो जाते हैं.

यही इस बार तमिलनाडु के किसानों के साथ हो रहा है जो फसल से अपनी लागत तक नहीं निकाल पा रहे हैं.

इसी बीच एआईएडीएमके के प्रवक्ता केसी पलानीस्वामी का कहना है कि केंद्र सरकारों को तमिलनाडु के किसानों की मदद के लिए राष्ट्रीय नीति का ऐलान करना चाहिए. उन्होंने केंद्र सरकार से टमाटर का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करने की मांग भी की है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...