ख़बरें

रिवेंज पोर्नः पश्चिम बंगाल में बीटेक छात्र को पांच साल की जेल

तर्कसंगत

March 8, 2018

SHARES

पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर की एक अदालत ने बीटेक के एक छात्र को रिवेंज पोर्न शेयर करने के जुर्म में पांच साल क़ैद की सज़ा सुनाई है.

अदालत ने अभियुक्त पर 90 हज़ार रुपए का जुर्माना भी लगाया है.

अभियुक्त ने इंटरनेट पर जान पहचान होने के बाद एक युवती की आपत्तिजनक तस्वीरें शेयर कर दी थीं.

यही नहीं अदालत ने सरकार से कहा है कि पीड़िता को रेप सर्वाइवर की तरह समझा जाए और उसी हिसाब से हर्जाना भी दिया जाए.

इस मामले में पीड़िता ने अभियुक्त अनिमेष बॉक्सी के ख़िलाफ़ शिकायत दी थी जिसे 21 जुलाई 2017 को गिरफ़्तार कर लिया गया था. मामले की सुनवाई 28 फ़रवरी 2018 को पूरी कर ली गई थी.

पीड़िता का कहना था कि वो अभियुक्त को तीन साल से जानती थी और उस पर भरोसा करती थी.

अभियुक्त ने शादी का भरोसा देकर पीड़िता से उसकी निजी तस्वीरें मंगवाईं थीं. इसके बाद पीड़िता को शारीरिक संबंध न बनाने की स्तिथि में तस्वीरें सार्वजनिक करने की धमकी दी गई थी.

पीड़िता के शारीरिक संबंध बनाने से मना करने के बाद उसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा कर दी गईं थीं.

अदालत ने इस रिवेंज पोर्न का मामला मानते हुए अभियुक्त को पांच साल की सज़ा सुनाई है.

मामले की जांच कर रही सीआईडी ने 42 दिनों में जांच पूरी कर चार्जशीट दाख़िल कर दी थी.

आरोप तय होने के बाद 60 दिनों तक मामले की सुवाई चली जिसमें कई गवाह पेश हुए.

विशेष पब्लिक प्रासीक्यूटर बिवास चटर्जी के मुताबिक राज्य में ये इस तरह का पहला मामला है जब रिवेंज पोर्न के आरोपों में किसी को सज़ा हुई है.

अपनी तस्वीरें सोशल मीडिया पर आने के बाद बेहद आहत हुई लड़की ने हिम्मत दिखाते हुए ख़ुद को संभाला और मामले को अदालत तक लेकर गई.

यही नहीं उसने दो दिनों तक पुलिस पूछताछ का सामना किया और पूरी ईमानदारी से सबूत अदालत के सामने पेश किए.

अभियुक्त को सज़ा दिलाने के लिए जनअभियोजक ने सुप्रीम कोर्ट के तीन सौ फ़ैसलों के संदर्भ दिए और पुलिस ने 200 इलेक्‌ट्रॉनिक सबूत पेश किए.

स्रोतः द टाइम्स ऑफ़ इंडिया


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...