सप्रेक

कनाडा के डॉक्टरों ने अपना वेतन बढ़ाए जाने का विरोध किया

तर्कसंगत

March 9, 2018

SHARES

भारत में वेतन बढ़ाने को लेकर सराकरी डॉक्टरों की हड़तालें आम बात हैं.

बाकी नौकरियों के मुक़ाबले बेहतर वेतन होने के बावजूद सरकारी अस्पतालों के लिए डॉक्टर मिलना तेढ़ी खीर साबित हो जाता है.

ऐसे में कनाडा से एक ऐसी ख़बर आई है जो डॉक्टरी पेसे से जुड़े लोगों को सोचने पर मजबूर कर सकती है.

कनाडा के डॉक्टरों ने अपना वेतन बढ़ाए जाने का विरोध किया है.

डॉक्टरों का कहना है कि उन्हें दिए जा रहे अधिक वेतन का इस्तेमाल स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने में किया जाना चाहिए.

हाल के दिनों में करीब पांच सौ ड़ॉक्टरों और रेसिडेंट डॉक्टरों ने पत्र लिखकर अपनी वेतन वृद्धि रोके जाने की मांग की है.

डॉक्टरों ने ये क़दम नर्सों और मरीज़ों से सहानुभूति के चलते उठाया है. नर्सें जहां ख़राब कामकाजी हालात का  सामना कर रही हैं वहीं मरीज़ों के लिए सुविधाएं भी बहुत बेहतर नहीं हैं.

ऐसे में डॉक्टरों का मानना है कि उनकी पहले से ही बेहतर सैलरी को और अधिक बढ़ाने के बजाए नर्सों और मरीज़ों के लिए हालात बेहतर करने पर ज़ोर दिया जाना चाहिए.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पांच सौ से अधिक हस्ताक्षर वाले पत्र में आग्रह किया गया है कि उन्हें दी गई वेतनवृद्धि के पैसे को स्वास्थ्य सेवाओं में लगाया जाना चाहिए.

पत्र में कहा गया है कि इस पैसे से कनाडा के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं दी जानी चाहिए.

पत्र में डॉक्टरों ने लिखा, “हम क्यूबेक के डॉक्टर बेहतर जन सेवाओं में विश्वास रखते हैं और हाल ही में मेडिकल फेडेरेशन की बातचीत के बाद बढ़ी सैलरी का विरोध करते हैं. ये वेतनवृद्धि चौंकाने वाली हैं क्योंकि हमारी नर्सें, क्लर्क और अन्य पेशेवर लोगों के सामने चुनौतीपूर्ण हालात हैं. यहीं नहीं हाल के सालों में की गई कटौती की वजह से मरीज़ की स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंच भी सीमित हुई है. हम मांग करते हैं कि डॉक्टरों का बढ़ा हुआ वेतन रोका जाए और इसे सिस्टम को बेहतर करने में लगाया जाए.”

कनैडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ हेल्थ इंफोर्मेशन की एक रिपोर्ट के मुताबिक कनाडा में एक सरकारी डॉक्टर औसतन सालाना वेतन 260924 डॉलर लेता है.

कनाडाई डॉक्टरों के अपने ही वेतन को बढ़ाए जाने का विरोध करने के इस क़दम का हम सम्मान करते हैं और उम्मीद करते हैं कि हमारे देश के डॉक्टर भी इससे कुछ सबक लेंगे.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...