सप्रेक

ऑटो ड्राइवर ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, स्कूल टीचर को लौटाये 80 हजार रुपये

Poonam

March 13, 2018

SHARES

आज के समय में आये दिन हम पैसों को लेकर लूटपाट, मर्डर की खबरें सुनते रहते हैं लेकिन इसी दौर में कुछ ऐसे लोग भी हैं जिनका रूपयों को देखकर ईमान डगमगाता नहीं है. मुंबई के एक ऑटो ड्राइवर ने ईमानदारी की मिसाल पेश करते हुए एक स्कूल टीचर का बैग वापस किया जिसमें 80 हजार कैश के साथ क्रेडिट, डेबिट कार्ड और तमाम कागजात भी थे.

ये वाक्या चेंबूर में प्राइमरी और प्री प्राइमरी बच्चों के लिए अरुणोदय इंग्लिश स्कूल चलाने वाली 68 वर्षीय सरला नंबोदरी के साथ हुआ. स्कूल से थोड़ी दूर पार्किंग में खड़ी कार तक पहुंचने के लिए एक उन्होंने ऑटो लिया. लेकिन जल्दबाजी में वो अपना बैग ऑटो में ही भूल गयीं और इस बैग में कई स्कूली कागजात के अलावा 80 हजार रुपये भी थे जो पैसे स्कूल के बच्चों की फीस थी. इसके अलावा बैग में उनका क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पेन कार्ड, कार की आरसी, दो मोबाइल फोन और घर की चाबी भी थी.

सरला मुंबई में अकेले रहती हैं और जब उन्हें इस बात का आभास हुआ की वो अपना बैग ऑटो में ही भूल गई तो वो बेहत परेशान हो गयीं. वो वापस स्कूल गयीं और उस ऑटो के बारे में पता करने लगीं लेकिन जब उन्हें कुछ समझ नहीं आया तो उन्होंने पुलिस में शिकायत करने की सोची. सरला पुलिस को फोन लगाने ही वाली थीं तभी ऑटो वाला अमित उनका पैसो से भरा बैग लेकर वापस स्कूल आ गया.

ऑटो ड्राइवर अमित ने बताया कि जब एक पेसेंजर ऑटो में बैठ रहा था तो उसने पिछली सीट पर ये बेग देखा जिसके बाद उसे एहसास हुआ कि ये बैग इस सवारी से पहले ऑटो में बैठी स्कूल वाली मैडम का था. बैग वापस मिलते ही सरला के खुशी का ठिकाना नहीं रहा और अमित बैग देकर वापस चला गया.

इस घटना के बाद सरला को अमित की ईमानदारी देखकर उसके लिए कुछ करने की इच्छा हुई. तब वो अमित के बारे में आसपास के लोगों से पता करने लगीं. ये खोज उनकी इस घटना के दो महिने बाद पिछले सप्ताह पूरी हुई. अमित से बात करने पर पता चला की की उसकी आर्थिक स्थिती बहुत ही खराब है जिससे वो अपने बच्चों को स्कूल भी नहीं भेज पा रहा है.

सरला ने अमित की ईमानदारी से प्रभावित होकर उसके बच्चों को स्कूल में मुफ्त में पढ़ाने का आश्वासन दिया और साथ ही अमित को तुरंत 10,000 रुपये का इनाम भी दिया।. हमारे बीच ऐसे लोग मौजूद हैं जिनकी ईमानदारी औऱ निष्ठा न सिर्फ हम सबके लिए मिसाल है बल्कि एक सीख भी है.

PC- timesofindia


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...