ख़बरें

शर्मनाकः बेटा पैदा न होने पर पत्नी और पांच साल की मासूम बेटी की हत्या

तर्कसंगत

March 14, 2018

SHARES

देश के किसी न किसी कोने से हर दिन कोई न कोई ख़बर ऐसी आती ही है जो हमें ठहरकर सोचने पर मजबूर करती है कि हम कहां जा रहे हैं.

हम बनाना तो चाहते हैं एक ऐसा समाज जिसमें सब बराबर हों, लड़के और लड़की में भेदभाव न हो, सबको बराबर मौके मिलें.

लेकिन हमारे समाज को आइना दिखाने वाली घटनाएं हो ही जाती हैं.

उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक व्यक्ति ने बेटा पैदा न होने पर अपनी पत्नी और पांच साल की बेटी की गला रेतकर हत्या कर दी है.

पुलिस के मुताबिक शहर के काकड़ों मोहल्ला में रहने वाले अनुज की पत्नी ममता (29 वर्ष) और 5 साल की बेटी अवनी का शव घर के ही पिछले हिस्से में मिला था.

पुलिस पूछताछ में अनुज ने दोनों का क़त्ल करने की बात क़ुबूल करते हुए कहा कि बेटा पैदा न होने की वजह से घर में रोज़ाना झगड़ा होता था.

पुलिस का कहना है कि अनुज ने पहले पत्नी की हत्या की थी. इसी दौरान बेटी जाग गई तो उसकी भी हत्या कर दी गई.

बेटियों को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने महत्वाकांक्षी ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना शुरू की है.

यही नहीं केंद्र और राज्य सरकारों ने लड़कियों को बढ़ावा देने के लिए कई और योजनाएं भी शुरू की हैं.

लड़कियों ने 21वीं सदी के हर क्षेत्र में अपनी योग्यता भी साबित की है.

हाल ही में एक बेटी अवनी चतुर्वेदी भारतीय वायुसेना का लड़ाकू विमान उड़ाने वाली पहली महिला पायलट भी बन गई हैं.

बावजूद इसके लड़कियों से भेदभाव जारी है.

मेरठ की पांच साल की अवनी जिसकी पिता ने ही हत्या कर दी और लड़ाकू विमान उड़ाने वाली अवनी चतुर्वेदी में बस यही फ़र्क है कि एक के घरवालों ने उसे बोझ समझा और दूसरी के घरवालों ने उसे बराबर मौके मुहैया कराए.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...