ख़बरें

कोलकाताः छात्राओं पर समलैंगिकता के आरोप, शिक्षा मंत्री ने मांगी रिपोर्ट

तर्कसंगत

March 15, 2018

SHARES

कोलकाता में एक स्कूल की छात्राओं पर समलैंगिकता के आरोपों के बाद विवाद हो गया है.

स्कूली शिक्षा विभाग ने संबंधित स्कूल से पूरे मामले पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

छात्राओं ने आरोप लगाया है कि स्कूल प्रबंधन ने उन पर समलैंगिकता के मामले में हलफ़नामा देने के लिए दबाव बनाया.

छात्राओं का कहना है कि उन पर स्कूल परिसर में समलैंगिक गतिविधियां करने के आरोप लगाए गए.

सोमवार को अभिभावकों ने स्कूल के बाहर प्रदर्शन भी किया था.

आरोप है कि स्कूल के प्रभारी ने छात्राओं से कहा कि वो लिख कर दें कि भविष्य में समलैंगिक गतिविधियों में लिप्त नहीं रहेंगी.

मामले के मीडिया में आने के बाद शिक्षा मंत्री पार्था चटर्जी ने विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

समलैंगिकता को लेकर भले ही बहस हो लेकिन स्कूलों में किसी भी तरह की सेक्स गतिविधियां पूरी तरह प्रतिबंधित हैं.

जिन छात्राओं पर समलैंगिक गतिविधियां करने के आरोप लगाए गए उनका कहना है कि वो सिर्फ़ क्लास में बांहों में बांहें डालकर बैठी थीं.

वहीं अभिभावकों का कहना है कि इन छात्राओं में से कुछ बीते महीने स्कूल परिसर में हुए छेड़खानी के एक मामले में गवाह हैं और उन पर दबाव डालने के लिए ये आरोप लगाए गए हैं.

समलैंगिकता भारत में एक बेहद संवेदनशील विषय है.

समलैंगिक अधिकार कार्यकर्ताओं के खुलकर बोलने के बावजूद अभी तक समलैंगिकता को क़ानूनी मान्यता नहीं मिली है.

भारत में समलैंगिक लोगों के बीच मर्ज़ी से संबंध भी अपराध की श्रेणी में आ सकते हैं.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...