ख़बरें

गौरक्षा के नाम पर हत्या, भाजपा नेता समेत 11 को उम्रक़ैद

तर्कसंगत

March 21, 2018

SHARES

झारखंड में गौरक्षा  के नाम पर हत्या के मामले में एक स्थानीय अदालत ने 11 कथित गौरक्षकों को उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई है.

झारखंड के रामगढ़ में बीते साल जून में अलीमुद्दीन नाम के एक व्यक्ति की गाय का मांस ले जाने के नाम पर पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी.

रामगढ़ की फ़ास्ट ट्रैक अदालत ने इन अभियुक्तों को 16 मार्च को दोषी क़रार दिया था.

जिन अभियुक्तों को सज़ा सुनाई गई है उनमें भारतीय जनता पार्टी के एक स्थानीय नेता नित्यानंद मेहतो भी शामिल हैं.

इसके अलावा दीपक मिश्रा, छोटू वर्मा और संतोष सिंह भी शामिल हैं.

अदालत के फ़ैसले के मद्देनज़र स्थानीय प्रशासन ने रामगढ़ अदालत में सुरक्षा के इंतेज़ाम किए थे.

ज़िला एवं सत्र न्यायाधीश ओमप्रकाश की अदालत ने इन सभी अभियुक्तों को दोषी क़रार दिया है.

भारत में गौरक्षा के नाम पर हत्या का ये पहला मामला है जिसमें किसी अभियुक्त को सज़ा सुनाई गई है.

मारे गए अलीमुद्दीन के परिवार ने फ़ैसले के बाद संतुष्टि ज़ाहिर करते हुए स्थानीय मीडिया से कहा है कि आख़िरकार उन्हें इंसाफ़ मिल ही गया.

पुलिस ने इस मामले में कुल 12 लोगों को अभियुक्त बनाया था जिनमें से एक नाबालिग है और उसकी सुनवाई जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में हो रही है.

पुलिस ने इस मामले में 1 सितंबर 2017 को चार्जशीट दाख़िल कर दी थी. मामले में 19 गवाह अदालत में पेश हुए हैं.

दूसरी ओर बचाव पक्ष ने कहा है कि वो ऊपरी अदालत में फ़ैसले के ख़िलाफ़ अपील करेंगे.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...