ख़बरें

उन्नाव गैंगरेपः बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर का भाई गिरफ़्तार

तर्कसंगत

April 10, 2018

SHARES

गैंगरेप के आरोपों का सामना कर रहे उत्तर प्रदेश के उन्नाव से भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर के भाई अतुल सिंह को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस ने ये कार्रवाई डीजीपी के आदेश के बाद की है. पुलिस ने विधायक के भाई समेत कुल चार अभियुक्तों को गिरफ़्तार किया है.

स्थानीय मीडिया की रिपोर्टें के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अतुल सिंह को गिरफ्तार किया है और उनसे पूछताछ की जा रही है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के आवास के बाहर आत्मदाह का प्रयास करने वाली नाबालिग किशोरी ने विधायक कुलदीप सेंगर और उनके सहयोगियों पर बलात्कार के आरोप लगाए थे.

इससे पहले हिरासत में लिए गए युवती के पिता की सोमवार सुबह संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई.

पीड़ित परिवार ने विधायक और उनके परिवार पर युवती के पिता के साथ जेल में मारपीट करवाने के आरोप लगाए हैं.

गैंगरेप पीड़िता के पिता की मौत के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस और सरकार पर कई गंभीर सवाल उठे हैं.

उन्नाव के जिस माखी थानाक्षेत्र का ये मामला है वहां के एसएचओ समेत छह पुलिसकर्मियों को लापरवाही के आरोप में निलंबित भी किया जा चुका है.

वहीं विधायक कुलदीप सेंगर ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों के बेबुनियाद बताते हुए इस आपराधिक साज़िश क़रार दिया है.

दूसरी और पीड़ित परिवार विधायक की गिरफ़्तारी पर अड़ा है.

मामले के मीडिया में सुर्खियां बनने के बाद से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं.

पीड़िता ने अपने बयान में कहा है कि उसने मुख्यंत्री से मिलकर भी विधायक की शिकायत की थी और उसे जांच का भरोसा दिया गया था लेकिन बावजूद इसके पुलिस ने कुछ नहीं किया और उसके परिवार को विधायक की ओर से धमकियां मिलती रहीं.

विधायक पर गैंगरेप का आरोप लगाने वाली युवती के परिवार और विधायक के बीच कई सालों से रंज़िश चली आ रही है. पीड़ित के चाचा और पिता पर भी विधायक के करीबियों की ओर से कई तरह के मुक़दमे दर्ज करवाए गए हैं.

ऐसे में बलात्कार के इन आरोपों के पीछे रंजिश भी हो सकती है.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...