सचेत

डेटिंग वेबसाइट पर मिली महिला ने व्यापारी के 60 लाख ठगे

तर्कसंगत

April 15, 2018

SHARES

बैंगलुरु के एक व्यापारी से डेटिंग वेबसाइट पर मिली एक महिला ने साठ लाख रुपए ठग लिए.

अब पीड़ित व्यापारी ने साइबर पुलिस को शिकायत दी है.

शहर के एक 34 वर्षीय व्यापारी ने एक डेटिंग वेबसाइट पर अकाउंट खोला था.

यहां उनकी बातचीत shompa76 नाम के यूज़रनेम वाली महिला से शुरू हुई.

महिला ने उन्हें अपना नाम अर्पिता बताया और जल्द ही दोनों ने व्हाट्सएप नंबर शेयर कर लिए.

इसके बाद दोनों व्हाट्सएप पर चैट करने लगे. एकदूसरे की तस्वीरें भी उन्होंने साझा की.

बातचीत शुरू होने के कुछ दिन बाद ही अर्पिता ने अपने पिता की बीमारी का हवाला देकर व्यापारी से तीस हज़ार रुपए की मदद मांगी.

उन्होंने बताए हुए अकाउंट में पैसे ट्रांस्फ़र कर दिए.

महिला ने कुछ दिन बाद कहा कि उसके पिता को बीएम बिरला हार्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट कोलकाता में एडमिट किया गया है और उसे अधिक पैसों की ज़रूरत है.

व्यापारी ने भरोसा करके बताए हुए अकाउंट में फिर से पैसे भेज दिए.

इसके बाद उन्होंने 15 दिसंबर 2017 और 23 जनवरी 2018 के बीच कई बार पैसे भेजे.

उन्होंने रूपाली मजूमदार नाम की एक महिला के खाते में 19 लाख रुपए और कुशान मजूमदार नाम के व्यक्ति के खाते में कुल चालीस लाख रुपए भेजे.

जब अर्पिता ने उनके कॉल और मैसेज का जवाब देना बंद कर दिया तो व्यापारी को संदेह हो गया.

धोखाधड़ी का अहसास होने के बाद उन्होंने साइबरक्राइम पुलिस में शिकायत दी और मानमला दर्ज करवाया.

साइबर क्राइम पुलिस का कहना है कि इंटरनेट पर इस तरह की धोखाधड़ी लंबे समय से चल रही है.

ठग अक्सर अकेले या अपने साथी से अलग रह रहे अमीर लोगों को निशाना बनाते हैं.

आमतौर पर ठग स्वयं को बड़ा कारोबारी, उद्यमी, पेशेवर या फिर अधिकारी बताते हैं और पीड़ित को भरोसे में लेकर उसे ठग लेते हैं.

ठग पहले भरोसा क़ायम करते हैं और फिर अपने परिवार में दिक्कतों का हवाला देकर पैसा मांगते हैं. एक बार व्यक्ति पैसे भेज देता है तो वो उससे अलगअलग तरह से और पैसे मांगने लगते हैं.

कई बार पीड़ितों को ब्लैकमेल भी किया जाता है.

साइबर पुलिस अधिकारी सलाह देते हैं कि इंटरनेट पर मिलने वाले लोगों पर यूं हीं भरोसा न करें. यदि भरोसा हो भी जाए तो पैसे तो बिलकुल न भेजें.

स्रोतः द टाइम्स ऑफ़ इंडिया, तस्वीरः डेली मेल


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...