ख़बरें

अखिलेश और मुलायम के बाद मायावती ने भी खाली किया सरकारी बंगला

तर्कसंगत

June 2, 2018

SHARES

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव के बाद मायावती ने भी अपना सरकारी बंगला लौटा दिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों को अपने सरकारी बंगले खाली करने के आदेश दिए थे.

शनिवार को मायावती ने अपने सरकारी बंगले 13-ए मॉल एवेन्यू रोड की चाबियां राज्य संपत्ति विभाग को सौंप दीं.

इससे पहले मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव ने अपने सरकारी बंगले खाली करके राज्य संपत्ति विभाग को सौंपे.

मुलायम और अखिलेश अब सुल्तानपुर रोड स्थित अपने घरों में रहने चले गए हैं.

लखनऊ में एक प्रेस वार्ता में मायावती ने पत्रकारों से कहा कि अब राज्य सरकार की ज़िम्मेदारी कांशीराम मेमोरियल की सुरक्षा करने की हैं.

मायावती ने अपने बंगले का नाम कांशीराम मेमोरियल रख दिया है.

यही नहीं मायावती ने पत्रकारों को अपने सरकारी आवास का दौरा करवाया और वो कमरा दिखाया जहां बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक कांशीराम लखनऊ प्रवास के दौरान रहा करते थे.

सुप्रीम कोर्ट ने 07 मई को उत्तर प्रदेश में मंत्रियों के भत्ते और वेतन से जुड़े क़ानून के उस प्रावधान को ख़त्म कर दिया था जिसके तहत पूर्व मुख्यमंत्रियों को कार्यकाल समाप्त होने के बाद भी सरकारी बंगले दिए जाने थे.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद राज्य संपत्ति विभाग ने पूर्व मुख्यमंत्री और भारत के मौजूदा गृहमंत्री राजनाथ सिंह, राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह, बसपा प्रमुख मायावती, समाजवादी पार्टी के मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव और नारायण दत्त तिवारी को पंद्रह दिनों के भीतर बंगले खाली करने का नोटिस दिया था.

शुरुआत में नेताओं ने बंगले खाली करने में आनाकानी की थी लेकिन बाद में बंगले खाली कर दिए.

हालांकि अभी नारायण दत्त तिवारी के परिवार ने बंगला खाली नहीं किया है और राज्य सरकार से समय मांगा है.


Contributors

Edited by :

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...