ख़बरें

उप्र: पूर्वी उत्तर प्रदेश में मतदाता सूची में निवासियों के नाम के आगे हाथियों, हिरण, कबूतर और अभिनेत्री सनी लियोन की तस्वीरें दिखती हैं

Kumar Vibhanshu

September 21, 2018

SHARES

पूर्वी उत्तर प्रदेश में बलिया जिले की एक नये मतदाता सूची मीडिया के हाथ लगने के बाद जाँच के दायरे में आ गई है। कारण यह है कि मतदाता सूची में मतदाताओं के नामों के बगल में हाथी, हिरण, कबूतर और अभिनेत्री सनी लियोन तक की तस्वीरें देखने को मिल रही हैं| 

 

मतदाता सूची लीक

एनडीटीवी के मुताबिक उत्तर प्रदेश सरकार 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले मतदाताओं की सूची अपडेट कर रही है। जबकि अपडेटेड सूची अभी तक सार्वजनिक नहीं हुई है, मगर सूची के दो पृष्ठ मीडिया को लीक कर दिए गए थे। लीक किए गए पृष्ठ में  56 वर्षीय व्यक्ति के नाम के बगल में एक हाथी की तस्वीर दिखाते हैं और बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोन की तस्वीर 51 वर्षीय महिला के नाम के बगल में दिखाई देती है।

ट्रिब्यून इंडिया के मुताबिक, दुर्गावती नाम के एक मतदाता के नाम पर सनी लियोन की तस्वीर थी, जबकि एक, कुंवर अंकुर सिंह के नाम पर एक हिरण की तस्वीर थी, और कुंवर गौरव सिंह के फोटो के जगह एक कबूतर था, जबकि पूर्व मंत्री नारद राय जो की मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव सरकारों में मंत्री थे, उनके नाम के बगल में एक हाथी की छवि थी।

 

डाटा एंट्री ऑफिसर को दोषी ठहराया गया 

रिपोर्ट के अनुसार, बलिया जिले के लिए नए अपडेटेड मतदाता की सूची की समय सीमा 15 जुलाई थी। मतदाता सूची के लिए, जिला प्रशासन द्वारा नियुक्त बूथ स्तर के अधिकारी नाम और आवश्यक डेटा एकत्र करने और जमा करने के लिए जिम्मेदार हैं। डेटा एंट्री ऑपरेटर तब दिए गए डेटा को ऑनलाइन दर्ज करेगा और मैच करेगा। सभी कागजी कार्य को पार करने के बाद अंतिम सूची की मंजूरी वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा की जाती है। यह इस क्रॉस-जांच के दौरान ही इन भयंकर हास्यास्पद गलतियों का पता लगा। इसके बाद यह चुनाव आयोग को सूचित किया गया, और गलतियों को ठीक किया गया।

इस त्रुटि के लिए दोष डेटा एंट्री ऑफिसर के कंधों पर लगाया गया जिसने क्लर्क के साथ कहासुनी के  बाद डेटा के साथ छेड़छाड़ की थी। स्थानीय पत्रकार की पूछताछ के जवाब में, बलिया जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मनोज कुमार सिंघल ने एक बयान जारी किया जिसमें उन्होंने कहा, “प्रारंभिक जांच के दौरान, यह प्रकाश में आया कि डाटा एंट्री ऑपरेटर विष्णु वर्मा स्थानीय क्लर्क  के साथ लड़े। इसके बाद, उसे हटा दिया गया था। इस पर नाराज, वर्मा ने मतदाता सूची में छेड़छाड़ की थी|”

ट्रिब्यून इंडिया के अनुसार, बलिया कोतवाली पुलिस स्टेशन में विष्णु वर्मा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...