ख़बरें

एमपी: प्रधानमंत्री के लाइव भाषण के प्रसारण के लिए 450 गायों को गौशाला से निकाला गया जिनमें 8 की मौत

Kumar Vibhanshu

September 23, 2018

SHARES

वायर के एक रिपोर्ट के अनुसार 15 सितंबर को “स्वच्छता ही सेवा” अभियान के संबंध में मोदी के लाइव भाषण के लिए टेलीविजन सेट स्थापित करना था जिसके लिए, मध्य प्रदेश के गौशाला से 450 गायों को कथित तौर पर बाहर निकाला गया था। इससे भुखमरी और नियमित देखभाल की कमी के चलते 8 गायों की मौत हो गई और कई गाय गंभीर रूप से बीमार पड़ गए हैं। हालांकि, खराब कनेक्टिविटी के कारण, गौशाला को साफ़ करने की पूरी कार्रवाई ने अपना मक़सद खो दिया क्योंकि भाषण के केवल 2-3 मिनट ही स्क्रीनिंग किये जा सके थे। संयोग से, उत्तराखंड विधानसभा ने गाय को “राष्ट्र माता” घोषित करने के संकल्प पारित करने के कुछ दिन बाद ही यह रिपोर्ट सामने आई है।

 

घटना

मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के पिप्लिया कुलमी गांव में नवीन गायत्री गौशाला प्रधानमंत्री के भाषण को प्रसारित करने के ख्याल से खाली कराया गया था, हालाँकि  कुछ गाय इस स्थिति में नहीं थे कि उन्हें बाहर ले जाया जा सके ।
यह पूरी घटना तब हुई जब कार्यक्रम के  एक सप्ताह पहले से गायों को ‘कृषि मंडी’ के खुले आकाश के नीचे ले जाया गया था। गायों के मालिक और देखभाल करने वाले उनकी देखभाल करने में असफल रहे, क्योंकि वे भाषण की व्यवस्था देखने में पहले से मशरूफ थे। गायों को ठीक से खिलाया नहीं गया था और कई बाहर जाने की स्थिति में भी नहीं थे। जिला प्रशासन पूरी घटना के बारे में बहुत कम बोलने की कोशिश कर रहा है।
बायोगैस और बायोफ्यूल के विकास में उल्लेखनीय काम के लिए चुने गए 17 जिलों में इस लाइव भाषण का प्रसारण किया जाना था। यह गोवर्धन योजना की बारीकियों का अनावरण करने के उद्देश्य से किया गया था। राजगढ़ के नवीन गायत्री गोशाला मध्य प्रदेश का एकमात्र ऐसा गौशाला था जहाँ से सबसे ज़्याद गोबर का उत्पादन होता था जो बायोगैस बनाने में सहायक होता है|
“एक हफ्ते से, गायों को किसानों के मंडी के भीतर बंद कर दिया गया है, जहां उन्हें न तो उचित भोजन दिया गया था और न ही पानी जो आठ गायों की मौत का कारण बन गया था और कई गाय बीमार पड़ गए थे। “गौशाला के मालिक और जिला प्रशासन समारोह आयोजित करने में व्यस्त थे और गायों को भूल गए थे।” श्याम तेजारी, जो एक स्थानीय निवासी और सामाजिक कार्यकर्ता हैं, ने एक रिपोर्ट में  द वायर को कहा था।

 

विपक्ष से आलोचना

मतदान के लिए तैयार राज्य की इस स्थिति में विपक्षी कांग्रेस के नेताओं ने इस घटना की निंदा की है। कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने इस घटना पर अपनी नाराजगी व्यक्त करने के लिए कहा, “पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग को दिखाने के लिए गायों की मौत हो गई, यह बीजेपी की गाय के प्रति प्यार है?”

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...