ख़बरें

ट्रैन नौ घंटे लेट, नाराज बीजेपी की नेता ने कहा कि, “बुलेट ट्रेन को भूल जाइये और पहले से चल रहे ट्रेनों पर ध्यान दीजिये”

तर्कसंगत

Image Credits: The Indian Express

December 27, 2018

SHARES

भारतीय रेल की बिगड़ती हालत को लेकर अमृतसर की वरिष्ठ भाजपा नेता और पंजाब सरकार की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री लक्ष्मी कांता चावला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रेल मंत्री पीयूष गोयल से भाजपा के लंबे समय के वादे पर कटाक्ष किया. बीजेपी नेता जो अमृतसर से अयोध्या की यात्रा कर रही थी, ने द प्रिंट के पत्रकार चितलीन के सेठी द्वारा साझा किए गए एक वीडियो को ऑनलाइन पोस्ट करते हुए कहा कि भारतीय रेलवे के लिए “अच्छे दिन” नहीं है. उनकी टिप्पणियों के तुरंत बाद, पंजाब भाजपा प्रमुख श्वेत मलिक ने पार्टी का बचाव करते हुए कहा कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद, अमृतसर रेलवे स्टेशन की स्थिति में सुधार के लिए बहुत कुछ किया गया है.

द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, 22 दिसंबर को, चावला अमृतसर से अयोध्या जाने वाली सरयू-यमुना एक्सप्रेस में सफर कर रहीं थी तभी उन्होनें कड़े शब्दों में वीडियो संदेश रिकॉर्ड किया, जिसमें उन्होंने भारतीय रेलवे की खराब स्थिति को चिह्नित किया. वीडियो में, उन्होनें अपनी ट्रेन की नौ घंटे की देरी के बारे में भी शिकायत की, शौचालय की अपर्याप्त सुविधाओं के बारे में और टिकट परीक्षकों द्वारा अवैध रूप से यात्रियों को अधिक मूल्य पर सीटें बेचने के बारे में भी आगाह किया.

चावला, जो मुखर होने के लिए जानी जाती हैं , उन्होनें इस वायरल वीडियो में कहा है कि सरकार को अभी के लिए बुलेट ट्रेन को भूल जाना चाहिए और वर्तमान में चलने वाली ट्रेनों की स्थितियों पर ध्यान देना चाहिए.

उन्होंने कहा, ” सरकार और पीएम मोदी से मेरी एक ही अपील है कि कृपया हम आम लोगों पर दया करें. रेलगाड़ियाँ की हालत ख़राब है … हमने पिछले 24 घंटों में बहुत कठिनाई का सामना किया है, ट्रेन ने दिशा बदल दी है और देर से चल रही है, लेकिन कोई भी हमें कोई जानकारी नहीं दे रहा है. ट्रेन में अतिरिक्त 10 घंटे बिताने वाले लोगों के लिए भोजन की कोई व्यवस्था नहीं है.

उन गाड़ियों के बारे में भूल जाइए जो 120 किमी या 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलती हैं. लोग फ़ुटपाथ पर हैं, वहाँ कोई वेटिंग रूम नहीं है और लोग इस तरह की ठंड में खुले में सो रहे हैं – पीयूष गोयल जी और मोदी जी ”

 

भारतीय रेलवे की खराब स्थिति

पूर्व भाजपा मंत्री चावला, सरयू-यमुना एक्सप्रेस के एसी 3-स्तरीय कोच में यात्रा कर रही थी. उनके अनुसार, ट्रेन नौ घंटे की देरी से चल रही थी और जब तक वह अपने अंतिम गंतव्य तक नहीं पहुँच जाती – जयनगर, बिहार ट्रेन 14 घंटे की देरी से चली. चावला ने शिकायत की कि ट्रेन में पानी नहीं था, भोजन की कोई सुविधा नहीं थी, यहाँ तक कि शौचालय की सीटें भी टूटी हुई थीं.

इसके अलावा, उन्होनें ट्रेन के देरी के कारण के बारे में पूछताछ करने की कोशिश की, लेकिन उन्हें कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली. हालाँकि, उन्हें बाद में पता चला कि ट्रेन की देरी, ट्रेन के रूट में बदलाव के कारण हुई थी. रूट डायवर्जन के कारण तीन घंटे की देरी हुई, जो कि बढ़ती ही जा रही थी.

गुस्साई और उग्र चावला ने रेलवे अधिकारियों तक को हेल्पलाइन नंबरों और ईमेल के माध्यम से बात करने की कोशिश की, लेकिन उस समय उन्हें कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली. उन्होनें कहा, “ऐसा लगता है कि यह जानकारी देने की पूरी कवायद कि रेलवे इन नंबरों के माध्यम से अपने यात्रियों की आपातकालीन जरूरतों को पूरा करेगा, झूठे प्रचार के एक अभ्यास के अलावा कुछ नहीं.”

वीडियो में, उन्होनें रेलवे अधिकारियों से एक आम यात्री की तरह यात्रा करने को कहा, ताकि रेलवे की वास्तविक तस्वीर मिल सके, उनका वीडियो वायरल होने के बाद ही उन्हें कुछ अधिकारियों ने संपर्क किया.

ट्रेन की दयनीय स्थितियों पर प्रकाश डालने के अलावा, उन्होंने यह भी बताया कि ट्रेन के टिकट परीक्षक यात्रियों को अत्यधिक कीमतों पर टिकट बेच रहे हैं. उनके अनुसार, कुछ यात्रियों ने उन्हें सूचित किया कि यात्रा टिकट परीक्षक (टीटीई), स्टाफ के कुछ अन्य सदस्यों के साथ, बिना टिकट यात्रा करने वाले यात्रियों को अधिक कीमत पर ट्रेन टिकट बेच रहे थे.

अमृतसर के एक अन्य भाजपा नेता, राकेश शर्मा, जो चावला के साथ एक ही ट्रेन में यात्रा कर रहे थे, ने कहा कि ट्रेन में उनकी यात्रा एक दुःस्वप्न थी.

 

बचाव में आगे आए भाजपा सांसद

इस बीच, बीजेपी के प्रमुख श्वेत मलिक, जो राज्यसभा सांसद हैं, ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के तहत अमृतसर स्टेशन का बहुत विकास हुआ है, जो पिछली सरकार नहीं कर पाई थी. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अकेले अमृतसर रेलवे पर कुछ 200 करोड़ रुपये खर्च किए हैं.

उन्होंने कहा कि आजादी के बाद अमृतसर स्टेशन में कोई नया प्लेटफार्म नहीं बना था, लेकिन मोदी सरकार ने दो नए प्लेटफार्मों के साथ अमृतसर रेलवे स्टेशन पर लिफ्टों का निर्माण किया है.

उन्होंने कहा, ‘हमने स्टेशन पर मुफ्त पानी और वाईफाई उपलब्ध कराया है. हमने अमृतसर में नए रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण किया है. यह सूची लंबी है. कांग्रेस सरकार की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी ने “सिस्टम को इतना नुकसान पहुंचाया है कि उसे ठीक होने में समय लगता है.”

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...