ख़बरें

दिल्ली सरकार ने पहली बार पशुओं की देखभाल के लिए 24 × 7 पशु अस्पताल शुरू किया

तर्कसंगत

January 21, 2019

SHARES

राष्ट्रीय राजधानी में रहने वाले सभी पशु प्रेमियों के लिए अच्छी खबर है,  दिल्ली में अब जानवरों के लिए पहली बार सरकार द्वारा संचालित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है. दिल्ली के विकास मंत्री गोपाल राय ने तीस हज़ारी इलाके में एक पशु अस्पताल का उद्घाटन किया. उद्घाटन समारोह में, मंत्री ने कहा कि यह दिल्ली में अपनी तरह की पहली सुविधा है. अपने भाषण में उन्होंने इस परियोजना की भविष्य की योजना का खुलासा करते हुए कहा कि जल्द ही इस तरह की पशु चिकित्सा सुविधाएं शहर के सभी ग्यारह जिलों में खोली जाएंगी.

यह पहल हाल ही में घोषित ‘पशु स्वास्थ्य और कल्याण नीति, 2018’ के तहत लिया गया. इस नीति के माध्यम से दिल्ली सरकार बंदरों और कुत्तों की बढ़ती संख्या को रोकना चाहती है. इसके अलावे पालतू जानवरों और मवेशियों में इलेक्ट्रॉनिक चिप लगाने की भी योजना है, जिससे गुम हुए पशुओं को आसानी से खोज कर उन्हें उनके मालिकों तक पहुँचाया जा सकेगा.

 

अस्पताल में सुविधाओं से संबंधित जानकारी के लिए हेल्पलाइन शुरू की गई

गोपाल राय ने आगे उल्लेख किया कि जो अस्पताल पहले केवल दिन के समय में काम करता था, वह अब तीन पारियों में – सुबह 8 बजे से  दोपहर 2 बजे तक, दोपहर 2 बजे से रात 8 बजे तक और रात 8 बजे से सुबह 8 बजे तक काम करेगा. लोग अपने पशुओं का इलाज 24 * 7 करवा सकते हैं. अस्पताल में ऑपरेशन की सुविधा के लिए और पालतू जानवरों के मालिकों की मदद के लिए विकास विभाग की पशुपालन इकाई द्वारा एक हेल्पलाइन नंबर – 011-23967555 शुरू किया गया है. इस हेल्पलाइन से कॉल करने वालों को अस्पताल में दी जाने वाली सुविधाओं के संबंध में विस्तृत जानकारी देने में मदद मिलेगी.

 

काउ शेड और लघु पशु चिकित्सा सुविधाएं निर्धारित की जाएं

मंत्री ने कहा कि ‘आप’ सरकार पशुपालन इकाई के लिए अपने बजट को बढ़ाने की योजना बना रहा है. राज्य सरकार शहर में पशु चिकित्सा सुविधाओं की कमी के मुद्दे का समाधान करने की भी कोशिश करेगा. फ़र्स्टपोस्ट के अनुसार, एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि सभी 272 नगरपालिका वार्डों में छोटी पशु चिकित्सा सुविधाएं खोली जाएंगी. गायों की देखभाल करने के लिए पशु स्वास्थ्य और कल्याण नीति, 2018’ में दिल्ली के घुमानहेरा क्षेत्र में एक गाय शेड का भी प्रस्ताव रखा.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...