ख़बरें

केबल टीवी 1 फरवरी से नई टैरिफ लागू होने के बाद सस्ती हो जाएगी: ट्राई चीफ

तर्कसंगत

Image Credits: Jagran

January 23, 2019

SHARES

टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के डायरेक्टर आरएस शर्मा ने कहा है कि 1 फरवरी, 2019 से  ‘एमआरपी-आधारित मॉडल’ के आ जाने से मंथली केबल टीवी चार्ज सस्ता हो जाएगा. नए स्कीम में यह कोशिश की जा रही है कि कस्टमर्स को कम पैसे में ज़्यादा चैनल की सुविधा मिले और पारदर्शिता भी बढ़े. टाइम्स ऑफ इंडिया ने बताया कि ट्राई चीफ ने तत्काल ब्लैक-आउट की स्थिति को भी साफ़ कर दिया, कि ऐसा कुछ भी नहीं होगा और सब कुछ सुचारु रूप से चलता रहेगा.

उन्होंने कहा कि नए स्कीम में एनरोल न करने की हालत में दर्शक मुफ्त चैनलों का आनंद लेते रहेंगे, हालांकि यह उम्मीद की जाती है कि अधिकांश पे-टीवी कंज़्यूमर्स, कम टैरिफ का आनंद लेने के लिए डेडलाइन से पहले नए स्कीम में आ जायेंगे. इस नए स्कीम से ग्राहकों को मिलने वाल फायदों के बारे में पूछे जाने पर उन्होनें कहा कि स्कीम के आने से पहले अला -कार्ट चैनल के पैकेज में भारी गिरावट देखने को मिल रही है.

 

जो चैनल नहीं देखते उसके पैसे देने की ज़रूरत नहीं

उन्होंने कहा कि पहले कंज़्यूमर्स पर अधिक भार था उन्हें उन चैनलों के भी पैसे देने पड़ते थे जो वे नहीं देखते थे, बुके सिस्टम के माध्यम से, केबल ऑपरेटर और ब्रॉडकास्टर लोगों को अधिक चैनल दे दिया करते थे. नए स्कीम में ट्रांसपेरेंसी ज़्यादा रहेगी और कंज़्यूमर्स को ज़्यादा फायदा मिलेगा उन्हें उन चैनल्स को रखने की ही ज़रूरत नहीं होगी जो वे नहीं देखते.

शर्मा ने कहा कि स्टडी में पाया गया है कि जो लोग पैकेज और बुके के रूप में 200-250 से अधिक चैनलों के लिए पैसे देते हैं, वे शायद ही वास्तविकता में 50 से अधिक चैनल देखते हैं. कम कीमत वाले MRP स्कीम को लाकर, लोग केवल उन्हीं चैनल के लिए पैसे देंगे जो उन्हें देखना है.

 

बेसिक पैकेज की कीमत 130 रुपये से शुरू होती है

नए टेर्रिफ 130 रूपये से शुरू होती है जिसमें ग्राहकों को 100 फ्री टू एयर चैनल देखने को मिलेंगे. ग्राहक मुफ्त चैनलों को चुन सकते हैं या उसके बदले केवल पेड चैनल देख सकता है. शर्मा ने संकेत दिया कि अगर कंज़्यूमर्स चाहे तो 130 रुपये के प्लान में कुछ बदलाव करके 130 से भी कम पे कर सकते हैं. ब्रॉडकास्टर्स द्वारा दिसंबर में ट्राई को जमा किये गए सब्सक्रिप्शन चैनल के दाम उनके वेबसाइट पर दिए गए दाम से कम थे.

ट्राई ने देखा कि कुछ कुछ मामलों में नए स्कीम के अंतर्गत कुछ चैनल के दाम 4-5 गुना सस्ते थे. ट्राई ने इंडिविजुअल चैनल के दाम पर भी लगाम लगायी है क्योंकि पहले उनमें से कुछ की कीमत 60 रुपये से अधिक थी. शर्मा ने बताया कि ट्राई एक नई वेबसाइट के साथ आया है https://main.trai.gov.in/ जो उपभोक्ताओं को पसंद के चैनल चुनने में मदद करेगा.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...