पर्यावरण

इस सिविल इंजीनियरिंग के छात्र ने सफाई अभियान की शुरुआत की जिससे उन्हें गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बना डाला

तर्कसंगत

February 8, 2019

SHARES

बेंगलुरु, एक शहर जो एक विशाल दर पर प्रगति कर रहा है, वह प्रतिदिन 4000 टन से अधिक कचरा पैदा कर रहा है. हम में से ज्यादातर के लिए यह सिर्फ एक संख्या है जिस पर हम ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं. हालांकि, अनिरुद्ध दत्त के लिए, यह एक चिंता का कारण है. उन्होंने अपने 5000 से अधिक रजिस्टर्ड वालंटियर्स के साथ मिलकर बेंगलुरु शहर को साफ करने का एकमात्र मिशन बना लिया है.

 

कौन हैं अनिरुद्ध दत्त?

अनिरुद्ध दत्त 24 वर्षीय सिविल इंजीनियरिंग स्नातक के छात्र हैं, जिन्होंने लेट्स बी द चेंज (टीम LBTC) की स्थापना की. LBTC एक गैर-लाभकारी संगठन है जिसका उद्देश्य लोगों और सरकार के साथ काम करके एक स्वच्छ और स्वस्थ समाज का निर्माण करना है. 2015 में “राइजिंग स्टार ऑफ़ द ईयर अवार्ड” के प्राप्तकर्ता जो उन्हें  नम्मा बेंगलुरु फाउंडेशन से मिला था,  उन्होंने 18 वर्ष की आयु में LBTC की स्थापना की थी. वह हमेशा समाज को कुछ वापस देना चाहते थे. तर्कसंगत की टीम से बात करते हुए उन्होंने कहा, “मैं कुछ ऐसा करना चाहता था जिससे हमारा समाज अच्छा हो.” उन्होंने कहा कि यह CET प्लेसमेंट से पहले था जब उन्होंने अपने दोस्त के समक्ष बेंगलुरु को स्वच्छ बनाने का विचार रखा. निराश होते हुए, अनिरुद्ध ने कहा कि उनके 10 दोस्तो ने ही केवल साथ दिया और उनकी मदद करने के लिए सहमत हुए.

 

लेट्स बी द चेंज की शुरुआत कैसे हुई?

यह पूछने पर कि उन्हें क्या करने की आवश्यकता है यह कैसे पता चला, इस बारे में अनिरुद्ध ने कहा, “शुरुआत में, क्या किया जाना चाहिए, इस बारे में स्पष्ट विचार प्राप्त करने के लिए, हमने 3-4 सर्वेक्षण किये. हमने विभिन्न इलाकों के लोगों से पूछा कि उनकी समस्याएं क्या हैं?  उनके अधिकांश सर्वेक्षणों में पाया गया कि लोग अपने पड़ोस में फेके जा रहे कचरे के बारे में ज्यादा चिंतित थे. इस मुद्दे को समझते हुये, अनिरुद्ध ने सोशल मीडिया की मदद ली ताकि अधिक लोगों को आगे आने के लिए कहा जा सके और उन्हें कचरा साफ करने में मदद मिल सके. लोगों ने उत्साह तो दिखाया लेकिन भारी संख्या में नहीं.

 

 

नेटवर्क का विस्तार किया

धीरे-धीरे लोगों ने उनके बारे में जानना शुरू कर दिया और उन्हें अधिक संदेश मिलने प्रारंभ हो गये जिससे उन्होने अपने पड़ोस में मदद करने और साफ करने के लिए कहा. हालांकि, कुछ उनके मकसद को समझने में नाकाम भी रहे और उन्हें अपने फार्महाउस की सफाई के लिए भी बुलाया. अनिरुद्ध ने एक खिलखिलाहट के साथ बात करते हुए कहा, ” एक बार हमें भी किसी का फोन आया और उसने हमें अपने फार्महाउस को साफ करने के लिए कहा. कुछ लोग यह नहीं समझ पा रहे थे कि हम क्या करने की कोशिश कर रहे थे! उन्होंने फिर फैसला किया कि सरकारी अधिकारियों के साथ काम करना बेहतर रहेगा. LBTC ने BBMP (बृहत बेंगलुरु महानगर पालिक) के साथ सहयोग करना शुरू किया. अनिरुद्ध ने कहा, “बीबीएमपी के सदस्य वास्तव में मददगार थे और सुझाव के लिए खुले थे”. जबकि BBMP ने LBTC से एक सुझाव प्राप्त करके कचरे की सफाई शुरू की, LBTC ने Cleanathon नामक एक नई पहल पर ध्यान केंद्रित करना शुरू कर दिया. उन्होंने साफ करने के बाद क्षेत्रों को चित्रित करना शुरू कर दिया. इसमें ज्यादातर लोगों के लिए क्षेत्र को साफ रखने का संदेश रहता था.

 

 

हर साल 2 अक्टूबर को, समुदाय बड़ी परियोजनाओं का संचालन करता है और बड़े लक्ष्यों को प्राप्त करने की कोशिश करता है. उदाहरण के लिये, 2 अक्टूबर 2016 को, एलबीटीसी ने केम्पेगौड़ा बस स्टैंड (मैजेस्टिक) को साफ और सुशोभित किया. लगभग 400 लोगों ने स्वेच्छा से टीम को बस स्टैंड को साफ करने में मदद की. “सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट राउंड टेबल के एन.एस. रमाकांत ने हमें बस स्टैंड में लोगों को जागरूक करने में बहुत मदद की. हमारे वालंटियर्स बस के अंदर भी गये और यात्रियों से अनुरोध किया कि वह बाहर थूकें नहीं और बस के बाहर या अन्दर कूड़ा न डालें.” 2 अक्टूबर 2017 को, 72 वार्डों में फेके हुये कचरे को साफ़ करने के लिये लगभग 1500 लोग एक साथ आये. 2018 में, बीबीएमपी, यूनाइटेड वे बेंगलुरू, नम्मा निम्मा साइकल फाउंडेशन और एलबीटीसी के सहयोग से गो नेटिव के नाम से बेंगलुरु में पहली प्लोग रन मैराथन की मेजबानी की. उसी दिन, 12 घंटों के भीतर लगभग 33 टन प्लास्टिक एकत्र किया गया. इसने उन्हें गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड के लिये एक खिताब दिलाया.

 

 

भविष्य की योजनाएं

भविष्य की योजनाओं के बारे में पूछे जाने पर, अनिरुद्ध ने कहा कि हम चाहते हैं कि हमारा ग्रुप और बड़ा बने. हम पहले दक्षिणी राज्यों में एक वालंटियर्स ग्रुप बनाने की सोच रहे हैं. चेन्नई या हैदराबाद हमारी पहली प्राथमिकता है और बाद में हम पूरे देश में विकास करना चाहते हैं. यह पूछने पर कि क्या हमारे पाठकों के लिये उनके पास कोई संदेश है, तो उन्होंने कहा, “हम चाहते हैं कि लोग अपने कचरे संबंधी प्रश्नों और चिंताओं के लिये हमसे संपर्क करें. हम उनकी मदद करना पसंद करेंगे जो बदले में समाज को स्वच्छ बनायेगा.

 

तर्कसंगत का तर्क 

तर्कसंगत अनिरुद्ध की इस पहल का सम्मना करता है जिसने बेंगलुरु के कुछ स्थानों की तस्वीर ही बदल दी. शहर को साफ-सुथरा बनाने के उनके दृढ़ संकल्प ने LBTC ग्रुप को बढ़ाने में मदद की है. हम अपने सभी पाठकों से यह कहते हैं कि वह अनिरुद्ध से प्रेरणा लेकर आस पास के वातावरण को स्वच्छ रखने का प्रयास करे.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...