पर्यावरण

[वीडियो] फिलीपींस : मरी हुई व्हेल के पेट में मिला 40 किलो प्लास्टिक

तर्कसंगत

Image Credits: D-Bone-Collector-Museum

March 21, 2019

SHARES

प्लास्टिक केवल इंसानों के लिए बल्कि समुद्री जानवरों के लिए भी खतरनाक है.डी बोन कलेक्टर म्यूज़ियमको हाल ही में एक मरी हुई व्हेल मिली. शव का परीक्षण करते समय उन्हें व्हेल के शरीर के अंदर 40 किलोग्राम प्लास्टिक मिली जो अपने आप में निंदनीय है.

फिलीपींस में शनिवार, 16 मार्च, 2019 को डीऑन कलेक्टर की टीम ने एक व्हले को मृत पाया. एक रहस्य जो समुद्री जीवविज्ञानी और संग्रहालय के स्वयंसेवकों के लिए चौंकाने वाला था वो ये कि इस व्हेल के अंदर से सबसे अधिक प्लास्टिक था जो उन्होंने पहले कभी इस मात्रा में नहीं देखा था.

एक फेसबुक पोस्ट में संग्रहालय ने लिखाशव परीक्षण के दौरान उन्होंने व्हले के पेट से 40 किलो प्लास्टिक बरामद किया है जिसमें 16 चावल के बोरे, 4 केले के पेड वाले के बैग और कई शॉपिंग बैग शामिल हैं. वे जल्द ही अन्य सामग्रियों की सूची डालेंगे. 40 किलो प्लास्टिक के सेवन के बादगैस्ट्रिक शॉकके कारण व्हेल की मौत हो गई थी.”

 

 

न्यूयार्क टाइम्स के साथ एक इंटरव्यू मेंडी बोन कलेक्टर म्यूजियमके मालिक डारेल ब्लेचले ने बताया कि यह एक जानवर के अंदर प्लास्टिक का सबसे खराब संग्रह है जिसे उन्होंने कभी देखा था. कुछ हिस्सों में प्लास्टिक इतनी मजबूत थी कि यह लगभग ईंट की तरह  ठोस हो चुकी थी.

 

फिलीपींस में मृत व्हेल के पेट में 40-केजी प्लास्टिक मिला

व्हेल के शरीर के अंदर 40 किलोग्राम प्लास्टिक पाया गया, जिसमें 16 चावल की बोरियां, 4 ‘बनाना प्लांटेशन स्टाइल बैग’ और कई शॉपिंग बैग थे

Posted by तर्कसंगत – Tarksangat on Tuesday, 19 March 2019

 

संग्रहालय ने डैमिंग पोस्ट में लिखा कि सरकार उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करे जो जलमार्ग और महासागर को डंपस्टर के रूप में समझते हैं.

 

तर्कसंगत का तर्क 

पांच एशियाई देशोंचीन, इंडोनेशिया, फिलीपींस, वियतनाम और थाईलैंड से समुद्र में पाये जाने वाली 60% से अधिक प्लास्टिक आती है. ये देश पूरी दुनिया की तुलना में सबसे अधिक प्लास्टिक समुद्र मेंफेंक रहे हैं.

हमें यह बताया गया है कि प्लास्टिक हमारे जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है लेकिन यह हमारे आसपास की हर चीज को बर्बाद कर रहा है. संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार, दुनिया भर में हर मिनट लगभग एक मिलियन पीने की प्लास्टिक बोतलें खरीदी जाती हैं. इसके अलावा, दुनिया भर में हर साल पाँच ट्रिलियन सिंगलयूज़ प्लास्टिक बैग का इस्तेमाल किया जाता है. जिसका मतलब है कि दुनिया में बनाये गये लगभग आधे प्लास्टिक को एक बार इस्तेमाल करने के बाद फेंक दिया जाता है.

यह सभी प्लास्टिक या तो लैंडफिल या समुद्र में चली जाती है. प्लास्टिक के कारण समुद्री जीवन भारी मुसीबत में है. प्लास्टिक प्रदूषण से मरने वाले जलीय जानवरों की संख्या हर रोज बढ़ रही है. 2015 के एक अध्ययन में पाया गया कि 1960 के दशक के बाद से लगभग 44,000 जानवर प्लास्टिक के मलबे में फंसे हैं. समुद्र में यह प्लास्टिक छोटे-छोटे टुकड़ों में टूट जाता है जिसे अक्सर छोटी मछलियां खा लेती हैं और मर जाती हैं. फिर वो हमारे पेट का हिस्सा बन जाती हैं जिससे हम मनुष्यों को कैंसर जैसी घातक बीमारी होने का खतरा बन सकता है. कृप्या पृथ्वी को बचायें और प्लास्टिक को ना कहें.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...